Friday, September 24, 2021
spot_img
HomeMain-sliderइंदौर जिले में डेंगू के रोकथाम एवं बचाव के संबंध में चलेगा...

इंदौर जिले में डेंगू के रोकथाम एवं बचाव के संबंध में चलेगा विशेष अभियान

कलेक्टर मनीष सिंह ने जारी किये दिशा-निर्देश

इंदौर: इंदौर जिले में डेंगू के रोकथाम एवं इससे बचाव के लिये कारगर उपाय किये जा रहे है। इसी तारतम्य में डेंगू एवं विभिन्न संक्रामक बीमारियों से बचाव एवं रोकथाम के उपाय सुनिश्चित करने के‍ लिये विशेष अभियान चलेगा। इस अभियान के माध्यम से व्यापक स्तर पर जन जागरूकता भी लायी जायेगी। इस संबंध में कलेक्टर मनीष सिंह ने एक आदेश जारी कर संबंधित अधिकारियों के लिये विस्तृत दिशा निर्देश जारी किये है। इस आदेश के तहत सभी संबंधित अधिकारियों को अगल-अगल दायित्व भी सौंपे गये है।

जारी आदेश के अनुसार नगर निगम इन्दौर, सभी 8 नगर पंचायतों के सीएमओ, सभी जनपद पंचायतों के CEO को निर्देशित किया गया है, कि विगत दिवस रविन्द्र नाट्यगृह में हुई बैठक एवं दिए गए तकनीकी विवरण एवं मार्गदर्शन के तारतम्य में सौंपे गये कार्यों को अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों में आवश्यक रूप से सुनिश्चित करें। सभी ग्रामीण SDM अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों की नगर पंचायतों एवं ग्राम पंचायतों से जारी दिशा निर्देशों का पालन शत-प्रतिशत करायें।

संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि सभी नगरीय निकायों के वार्ड एवं ग्राम पंचायतों में एंटीलार्वा एवं एंटी मच्छर दवाईयाँ जैसे हेमोफेस, पायरोथियान आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। इसका छिड़काव करने हेतु नामजद व्यक्तियों की ड्यूटी मय छिड़काव मशीन से किया जाना सुनिश्चित करें। नगर पालिका निगम इन्दौर में आयुक्त नगर निगम तथा ग्रामीण अनुभाग में अनुविभागीय दण्डाधिकारी अथवा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत यह नामजद आदेश जारी करेंगे।

निर्देश दिये गये है कि सभी वार्ड एवं ग्राम पंचायतों में फागिंग एवं छिड़काव के लिए मशीनें कोटेशन पर क्रय की जा सकती है (अगर उपलब्ध न हो तो), SDM यह अनिवार्यतः सुनिश्चित करें कि उनके नगर पंचायतों के सभी वार्ड में तथा उनके अधीन ग्राम पंचायतों में यह मशीन दवाई छिड़काव दलों के पास हो तथा यह छिडकाव अनिवार्य रूप से नियमित होता रहे।

सभी ग्रामीण SDM अपने अधिकार क्षेत्र की नगर पंचायतों के दरोगा एवं ग्राम पंचायतों के सचिवों की बैठक मुख्य नगर पालिका अधिकारी एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत की उपस्थिति में सुनिश्चित करेंगे तथा आवश्यकतानुसार अगर उचित समझे तो अपने स्तर से भी लिखित निर्देश जारी करें।

नगर निगम इन्दौर क्षेत्र में सभी वार्डों में छिड़काव एवं फागिंग जहाँ / जिन वार्ड में अधिक संख्या में केसेस है वहाँ विशेष सावधानी बरतने हेतु आवश्यक निर्देश आयुक्त, नगर निगम स्तर से जारी किए जायेंगे। फागिंग मशीनों में डीजल/पेट्रोल के साथ पायरोथियान या समकक्ष केमिकल का निर्धारण सम्पूर्ण जिले में किया जायेगा।

घरों के अंदर ताजे पानी के भराव से डेंगू लार्वा पनपता है, इसको देखते हुये कूलर, गुलदस्ता, टायर, छत पर चढ़ी हुई पोलिथीन, मुडी हुई टीन चादर, अनुपयोगी डब्बे आदि में अगर जल जमाव हो तो उसे तत्काल हटाया जाय। डेंगू के मच्छर प्रातः काल 10-11 बजे तक अधिकतम 2 से 3 फीट उंचाई तक उड़कर काटते है, इस संबंध में आमजन से अनुरोध किया जाय कि वे ऐसे वस्त्र पहने जिससे मच्छर ना काटे अर्थात फूलपेंट, फूल स्लीव शर्ट आदि का उपयोग करें।

बुखार आने पर तत्काल डेंगू टेस्ट कराएं एवं डॉक्टर से संपर्क करें। डेंगू मरीजों को अधिक से अधिक तरल पदार्थ जैसे नारीयल पानी, ज्यूस आदि देना चाहिये, यह भी आमजन में जन-जागरूकता हेतु अवगत करायें। जन-जागरूकता के उक्त महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर फ्लैक्स, पोस्टर, पेम्पलेट्स बनाकर सभी स्थानीय निकाय अनिवार्यतः वितरण किया जाये। पूर्व में इस आशय के पेम्पलेट्स उपलब्ध होंगे, उनको भी उपयोग में लिया जाये। स्थानीय सोशल मीडीया जैसे वाट्सएप्प आदि में भी इन संदेशों को फैलाया जाये। डेंगू मरीज अगर घर में हो तो उसे अनिवार्यतः मच्छरदानी के अंदर रखा जाये।

ग्राम पंचायतों में पंचायत सचिव दल प्रमुख के रूप में रहेंगे। आशा एवं आंगनवाडी कार्यकर्ताओं के साथ पंचायत सचिव मिलकर कार्य करेंगे। पंचायत के दलों की विशेष ट्रेनिंग SDM सुनिश्चित करेंगे। पूर्व में पंचायतों को डेंगू के बचाव के संबंध में ग्रामीण विकास विभाग द्वारा कभी भी निर्देश जारी नहीं किए गए हैं। पंचायत के दलों को आवश्यकता हो तो एक ट्रेनिंग और करवा दी जाय। ग्रामीण विकास विभाग द्वारा पृथक से निर्देश जारी किए जा रहे है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सुनिश्चित करेंगे कि सभी निर्देशों का पालन शत-प्रतिशत सुनिश्चित हो। इस कार्य में अगर आवश्यक हो तो NRLM के NGO, RES की टीम तथा APO को भी संलग्न किया जाय।

सभी ग्रामीण एसडीएम एवं शहरी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में जन-स्वास्थ्य से जुड़े इस विषय में यह सुनिश्चित करें कि इन निर्देशों का पालन फील्ड में शत-प्रतिशत हो रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के अधीन मलेरिया की समस्त टीम मय मलेरिया अधिकारी के नगर निगम इन्दौर के प्रशासकीय नियंत्रण में कार्य करेगी। आयुक्त नगर पालिक निगम इन्दौर स्वास्थ्य विभाग के इस दल की भी झोनवार अथवा वार्डवार ड्यूटी आर्डर जारी कर सकते हैं। कलेक्टर द्वारा इस संबंध में नगर पंचायतों के वार्ड एवं ग्राम पंचायतों का आकस्मिक निरीक्षण किया जायेगा।

Spread the love
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Spread the love