Sunday, August 1, 2021
spot_img
HomeMain-sliderदो दिन पूर्व अलग-अलग पुलिस थाना क्षेत्र में हुई हत्याओं का पुलिस...

दो दिन पूर्व अलग-अलग पुलिस थाना क्षेत्र में हुई हत्याओं का पुलिस ने किया पर्दाफाश,

एक मामले में शिक्षक निकला आरोपी तो दूसरे में पडोसी ने दिया था घटना को अंजाम

दमोह/दमोह जिले के कुम्हारी एवं पथरिया पुलिस थाना क्षेत्र में 14 जुलाई को हत्या की घटनायें घटित हुई थी इन अंधे कत्ल का पर्दाफाश करने पुलिस व एफएसएल की टीम ने लगातार मेहनत की और महज दो दिन में ही दोनों घटनाओं के आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर ली। पुलिस अधीक्षक डी आर तेनीवार ने आज प्रेस वार्ता में दोनों अंधे कत्लों का खुलासा किया।

दमोह जिले के कुम्हारी पुलिस थाना के ग्राम मझौली में रज्जू सिंह की सोते समय हत्या कर दी गयी थी,धारदार हथियार से की गयी इस हत्या का के आरोपी को गिरफ्तार करने के लिये एफएसएल की टीम प्रभारी डॉक्टर किरण सिंह एवं पुलिस ने हर एक साक्ष्य एकत्रित किये जिस पर पुलिस ने ग्राम के एक शिक्षक सूरत सिंह को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने जब घटना के दिन अपने साक्ष्य एकत्रित किये थे।

तब खून के धब्बे जो धारदार हथियार से गिरे थे वह सूरत सिंह के घर तक मिले थे। वहीं पुलिस ने जब पतासाजी की तो यह तथ्य सामने आये कि सूरत सिंह को यह शक था कि उसके परिवार की महिला के रज्जू से अवैध संबंध थे। वहीं उसके संबसियल पंप को खराब होने में रज्जू पर शक किया था। इन्हीं सब को लेकर उसने रज्जू की सोते समय हत्या कर दी और भाग निकला। पुलिस ने इस आरोपी को अपनी गिरफत में लेकर आज न्यायालय में पेश किया।

डी आर तेनीवार,पुलिस अधीक्षक दमोह।इसी तरह पथरिया पुलिस थाना के ग्राम चिरौला में एक विधवा महिला हीराबाई कुर्मी की हत्या अज्ञात द्वारा कर दी गयी थी और इस मामले में तो यह सामने आया कि जिस घर में महिला का शव मिला उसके दरवाजे अंदर से बंद थे। पुलिस ने इस मामले को चुनौती में लिया और एफएसएल की टीम की मदद से एक ऐसा साक्ष्य हाथ आया जो आरोपी के गिरेबान तक पहुंच गया।

एफएसएल व पुलिस की टीम ने मौके से एक अधजली बीडी का टुकडा जब्त किया था जिसमें धागा नहीं लगा था। और जब पुलिस ने पूछताछ की तब ग्राम के मस्तराम पटैल ने पुलिस के बीडी मांगने पर धागा तोडकर बीडी दी,जिससे पुलिस को शक गहरा गया।

मस्तराम पटैल से कडी पूछताछ की तो वह टूट गया। और अपना जुर्म कबूल करते हुये बताया कि वह व महिला आपस में मित्र थे और घटना की रात्रि को जब वह महिला से मिलकर वापिस लौट रहा था। तब महिला ने उससे 2 हजार रूपये मांगे जो मेरे पास नहीं थे तब महिला न जबरन उसकी पेंट से निकालना चाहे तो उसने धक्का दिया। जिससे महिला सिर के बल जमीन पर गिर गयी।

पुलिस ने रिपोर्ट के डर से उसने पहले लकडी के पटे से वार किया फिर मोबाईल चार्जर की डोरी से गला घोंट दिया और छत के रास्ते से निकलकर भाग गया। पुलिस ने आरोपी मस्त राम पटैल को गिरफ्तार कर आज न्यायालय में पेश किया।डी आर तेनीवार,पुलिस अधीक्षक दमोह।इन दोनों अंधे हत्याकांडो का खुलासा दो दिन में कर देने वाली पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक ने पुरूस्कृत करने की घोषणा की।

दमोह श्री मनोहर शर्मा की रिपोर्ट

Spread the love
RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

Spread the love