Monday, August 2, 2021
spot_img
HomeMain-sliderपेगासस स्पाईवेयर के जरिए भारत के 40 से ज़्यादा पत्रकारों की जासूसी...

पेगासस स्पाईवेयर के जरिए भारत के 40 से ज़्यादा पत्रकारों की जासूसी का दावा

देश के चर्चित लोगों के फ़ोन की कथित जासूसी से जुड़ी रिपोर्ट सामने आ गई है.इसे लेकर बीते कुछ वक़्त से सोशल मीडिया पर चर्चा थी.इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दुनिया भर में सैकड़ों पत्रकारों और दूसरे चर्चित लोगों के फ़ोन टैप किए गए हैं.इनमें भारत के कई लोग शामिल हैं.

रिपोर्ट आने के पहले बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इसे लेकर ट्वीट किया था.उन्होंने लिखा था कि इस तरह की अफ़वाह है कि वॉशिंगटन पोस्ट और लंदन गार्डियन एक रिपोर्ट छापने जा रहे हैं.’जिसमें इसराइल की फर्म पेगासस को मोदी कैबिनेट के मंत्री,आरएसएस के नेता,सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश और पत्रकारों के फ़ोन टैप करने के लिए हायर किए जाने का भंडाफोड़ होगा.’

इस पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह समेत कई लोगों ने प्रतिक्रिया दी थी.दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा था कि ‘उम्मीद करता हूं कि वो (रिपोर्ट छापने वाले) मोदी शाह के दबाव में नहीं आएंगे

दिग्विजय सिंह ने साल 2019 में पेगासस से जुड़ा मामला राज्यसभा में उठाया था.उन्होंने अपने ट्वीट में इसका भी जिक्र किया.इस बीच देर शाम ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ और भारत में समाचार वेबसाइट ‘द वायर’ ने एक ख़बर प्रकाशित कर दावा किया कि दुनियाभर के कई पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के फोन हैक किए गए.लेकिन, पेगासस नाम के जिस स्पाई वेयर से फ़ोन हैक करने की बात सामने आ रही है उसे तैयार करने वाली कंपनी एनएसओ ने तमाम आरोपों से इनकार किया है.

ये कंपनी दावा करती रही है कि वो इस प्रोग्राम को केवल मान्यता प्राप्त सरकारी एजेंसियों को बेचती है और इसका उद्देश्य “आतंकवाद और अपराध के खिलाफ लड़ना” है

Spread the love
RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

Spread the love