Wednesday, August 17, 2022
spot_img
HomeMain-sliderलगाम पटवारी का लगाम शासकीय धान खरीदी केंद्र की धान घोटाला में...

लगाम पटवारी का लगाम शासकीय धान खरीदी केंद्र की धान घोटाला में नाम आना कही ना कही महसुल विभाग के कार्यसेली पर धब्बा लगना साथसाथ अधिकारियों कि कार्यकुशलता पर करारा तमाचा।

Daily Khabar :

मुलचेरा :

लगाम स्थित पटवारी कार्यालय में पिछले 12साल से एक ही स्थान पर ड्यूटी पर तैनात पटवारी द्वारा शासन का दिशाभूल कर अपने क्षेत्र में अनगिनत गैरकानूनी काम करने का जानकारी होते हुए भीं महसूल विभाग के उच्च अधिकारी पटवारी को एक हि स्थान पर ड्यूटी लगाई।जबकि शासन के नियम अनुसार एक स्थान पर 3साल से ज्यादा ड्यूटी नही रह सकती। लेकिन तहसीलदार से लेकर उच्चाधिकारिओ को पटवारी की गैरकानूनी काम की जानकारी होने के बाद भीं बदली नही की गई।लगाम गोमनी क्षेत्र महासुल विभाग मुलचेरा के लिए एक गैरकानूनी कामों से कमाने के मलाई दार स्थान होने के कारण पटवारी को लगाम के साथ साथ गोमनी का भी पदभार संभालेंगे का लाभ जानबूझकर कर दिया गया।पटवारी के द्वारा पिछले बीते कई वर्षो तक लगाम , गोमनी क्षेत्र के अनगिनत कपास लगी खेतो को धान लगी उठित दिखाकर शासकीय सोसाइटी में धान का व्यापार खुलेआम किया।जिससे शासन का भी लाखो का नुकसान किया गया।पटवारी के द्वारा बाकायदा शासकीय पद पर होते हुए ,गैरकानूनी कामों को अंजाम देना।और लगाम सोसाइटी धान घोटाला में पटवारी का नाम आना और उनकी जांच होना ,कही ना कही मुलचेरा महसूल विभाग के मुंह पर बहुत बड़ा धब्बा एक तमाचा हैं।इसके बाद भी उच्चअधिकारी पटवारी को उसी स्थान पर विराजमान रखकार कही नां कही घोटाला बड़ावा और पटवारी के भ्रष्ट कारभार के सबूत को नष्ट करने की जीतोड़ मेहनात कर रहीं हैं। पटवारी द्वारा पीछे रहकर बाकायदा दीवांजी रखकर धन का व्यापार किया।अब जब 2020/21 में लगाम सोसाइटी में करोड़ो का शासकीय धान का घोटाला के जांच हो रही हैं।उसमे पटवारी का नाम आ रहा हैं। जनता में सुगबुगाहट हैं ,आखिर पटवारी द्वारा धान खरीदी बिक्री तो किया लेकिन घोटाला भी किया।इसलिए पिछले 12 साल से लगाम में ड्यूटी पर जानबूझकर हैं।कही ना कहीं ना कहीं पटवारी के धान घोटाला में महसुल विभाग के और भीं कुच्छ अधिकारी की मिलीभगत हो सकती हैं।जिस कारण पटवारी लगाम गोमनी क्षेत्र के पदभार स्थान पर अपनी मन मर्जी से महीने में 4दिन ड्यूटी करते और बाकिया दिन तहसील में मीटिंग में होने की जानकारी देकर सालो से लगाम गोमनी पदस्थ स्थान से गैर हाजिर रहते रहे हैं।जबकि किसानों को एक 7/12 के लिए महीनो तलाठी कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे।जानकारी अनुसार धान के दलाली के साथ साथ पटवारी रिश्वत के लिए अनगिनत 7/12फेरफार किया,शासन जमा वर्ग 2 की काबिल कास्ट जमीन अतिक्रमण करवाने में मदात की हैं।शासन का दिशाभूल कर वर्ग 2 जमीन को जमीन नाम करवाने में ग्राम पंचायत से लेकर महसूल विभाग में अतिक्रमण धारी को कागजी फेरफार कैसे करना क्या लिखना अपनी घोटाला बाज ज्ञान का प्रोयोग खुलेआम किया।जिससे शासन करोड़ो की जमीन घोटाला किया गया।पटवारी के धान घोटाला के जानकारी लगमाम गांव के उनके दिवनाजो सामु नामक व्यक्ति द्वारा संभाला जाता रहा।पटवारी जितना दोषी महसूल विभाग के उच्चाधिकारी भीं हैं।पटवारी के गैरकानूनी कामों के शिकायत के बाद भी कोई कारवाही नही हुई।इसका मतलब साफ हैं,पटावरी के साथ साथ दोषी महसूल विभाग के अधिकारी भी हैं।जांच कराने पर प्यवारी के साथ साथ कई और अधिकारी का भीनी घोटलाओ में लिफ्ट होने की संभावना हैं।जानकारी नुसार लगाम क्षेत्र से लेकर गोमनी क्षेत्र के अनेक धन व्यापारी दल्लालो के हाथ हैं ,लगाम शासकीय सोसाइटी के धान घोटाला में।सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार स्थाई को नेताजी के द्वारा घोटाला बाज आरोपियों को बचाने की भरपूर कोसीस किया जा रहा हैं। पोलिस जांच अधिकारी पर दवाब लाकर जांच में बाधा पहुंचाने की हर संभव कोशिश करने की बात आ रही हैं।जनता अपने लगाना क्षेत्र की करोड़ो रुपए की धान घोटाला की निष्पक्ष जांच कर घोटाला में शामिल शासकीय अधिकारी और स्थाई घोटाले बाज दलाल और उनके साथ देने वाले सभी को सजा मिले वैसी मांग करते हैं।

गडचिरोली जिला प्रतिनिधि ज्ञानेंद्र विश्वास

Spread the love
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Ankur Upadhayay on Are you Over Sensitive?
Pooja Solanki on Idea and Concept of Change
Spread the love