Tuesday, August 3, 2021
spot_img
HomeMain-sliderविद्युत विभाग के झूठे आश्वासन में उलझे ग्रामीण,4 माह बाद भी छघरा...

विद्युत विभाग के झूठे आश्वासन में उलझे ग्रामीण,4 माह बाद भी छघरा गांव का नहीं बदला ट्रांसफार्मर

जबेरा/बारिश नहीं होने से किसान आसमान की ओर टकटकी लगाए बड़ी उम्मीद के साथ निहार रहे लेकिन बारिश नहीं होने से किसान परेशान हैं और वहीं दूसरी ओर उमस भरी गर्मी ने लोगों को हैरान कर रखा है। पल भर के लिए भी बिजली गुल हो जाए तो लोगों की बेचैनी बढ़ जाती है। ऐसे में यदि किसी गांव का बिजली ट्रांसफार्मर कई महीनों से खराब पड़ा हो और विद्युत विभाग झूठा आश्वासन देकर बीते 4 महीने से ग्रामीणों को भटका या जाए तो सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि उस गांव की स्थिति क्या होगी। कुछ ऐसा ही हाल इन दिनों जनपद पंचायत जबेरा के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत गोला पट्टी के ग्राम छघरा का सामने आया है।

ग्राम में रखा बिजली ट्रांसफार्मर बीते करीब 4 माह से खराब बंद पड़ा हुआ है लेकिन बिजली विभाग द्वारा इसे बदलवाने की सुध नहीं ली जा रही है। वहीं दूसरी ओर विभाग द्वारा आजकल में ट्रांसफार्मर बदलवा दिया जाएगा ऐसा झूठा आश्वासन देकर 4 माह से आदिवासी ग्रामीणों को बनवार व नोहटा के कई चक्कर कटवाए जा रहे हैं। फिर भी ट्रांसफार्मर नहीं बदला गया। बनवार विद्युत वितरण केंद्र से जुड़े सागोनी फीडर के ग्राम छघरा के आदिवासी समाज के लोग बगैर बिजली के बीते 4 महीनों से नारकीय जीवन जीने को विवश हैं।

ग्राम के ग्रामीण मुकेश आदिवासी,राम सिंह,धनीराम आदिवासी,कोमल आदिवासी,विमलेश आदिवासी,रामप्रसाद आदिवासी आदि ग्रामीणों ने बताया कि करीब 4 माह पूर्व ट्रांसफार्मर खराब हुआ था। इस ट्रांसफार्मर से करीब 10 कनेक्शन है जिसमें से 7 बिजली उपभोक्ताओं के द्वारा बिल जमा किए जा चुके हैं उसके बाद भी बिजली विभाग द्वारा 4 माह से बीत जाने के बाद भी बिजली ट्रांसफार्मर नहीं बदलवाया गया,जिससे रात अंधेरे में काटनी पड़ रही है तो वही उमस भरी गर्मी से बड़े एवं बच्चे परेशान हैं।

मनोहर शर्मा दमोह

Spread the love
RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

Spread the love