Wednesday, August 17, 2022
spot_img
HomeEducationहरेली के दिन स्कूल में चल रही थी पढ़ाई,प्राचार्य ने कहा हरेली...

हरेली के दिन स्कूल में चल रही थी पढ़ाई,प्राचार्य ने कहा हरेली पर अवकाश हमारे कंपनी के कैलेंडर में नही..कंपनी का आदेश सरकार के आदेश से बड़ा ?

छत्तीसगढ़ / बिलासपुर / 28 जुलाई 2022 / जांजगीर जिले के अकलतरा गोपाल नगर में रेमण्ड एजुकेशन सोसायटी द्वारा निर्मित नोवेको पब्लिक स्कूल जिसे अब वर्तमान में आरसमेटा सीमेंट प्लांट कंपनी संचालित कर रही है जिसे पूर्व में रेमण्ड भी संचालित करता था। उक्त नोवेको पब्लिक स्कूल में छत्तीसगढ़ की पारंपरिक त्यौहार हरेली के दिन ही विद्यार्थियों की पढ़ाई चल रही थी। डेली खबर न्यूज के संपादक को जब इस बात की जानकारी मिली तो वे मोबाईल पर नोवेको पब्लिक स्कूल के प्राचार्य सुमंतो विश्वास से संबंधित जानकारी की पूछताछ की तो प्राचार्य ने बताया आज यहाँ बच्चों की परीक्षा लिया जा रहा है। लेकिन जब पूछा गया कि हरेली के त्यौहार के दिन ही क्यों परीक्षा लिया जा रहा है तो प्राचार्य सुमंतो विश्वास ने कहा हरेली त्यौहार पर अवकाश देना हमारी कंपनी के कैलेंडर में नही है।

हरेली छत्तीसगढ़ राज्य की प्रथम पारंपरिक त्यौहार है जिसे राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विशेष महत्व देते हुए हरेली त्यौहार को जोरशोर से मनाने राज्य भर में अवकाश की घोषणा कर दी है लेकिन वही पर अकलतरा गोपालनगर में स्थिति नोवेको पब्लिक स्कूल में मुख्यमंत्री के आदेशों को दरकिनार कर अपनी मनमानी चलाते हुए प्राचार्य व प्रबंधन विभाग ने हरेली के दिन ही स्कूल में अध्ययन जारी रखा है। बता दें कि नोवेको पब्लिक स्कूल ग्रामीण अंचओ के मध्य स्थित है जहाँ गाँव देहातों के बच्चे भी अध्यन करते है वही पर हरेली त्यौहार का ग्रामीण अँचलों में विशेष महत्व होता है ऐसे मौके पर विद्यार्थियों को परिवार के साथ त्यौहार मनाने देना छोड़ शासन के आदेशों को दरकिनार कर स्कूल में बुलाकर पढ़ाई कराना या परीक्षा लेना नोवेको स्कूल के प्राचार्य व प्रबंधन विभाग के तानाशाही का जीता जागता सबूत है क्या कंपनी का आदेश राज्य सरकार के आदेश से ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। अब देखना यह है कि इस खबर के बाद छत्तीसगढ़ शासन नोवेको पब्लिक स्कूल के इस हरकत पर क्या कार्यवाही करती है ?

Spread the love
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Ankur Upadhayay on Are you Over Sensitive?
Pooja Solanki on Idea and Concept of Change
Spread the love