Home Bollywood कंगना रनौत ने कहा, केरल की कहानी पर कुछ राज्यों द्वारा लगाया गया प्रतिबंध असंवैधानिक था, इसे सीबीएफसी द्वारा मंजूरी मिलने के बाद | केरल कहानी विवाद: ‘द केरला स्टोरी’ को लेकर हो रहे विवाद पर बोलीं किसी ने रनौत

कंगना रनौत ने कहा, केरल की कहानी पर कुछ राज्यों द्वारा लगाया गया प्रतिबंध असंवैधानिक था, इसे सीबीएफसी द्वारा मंजूरी मिलने के बाद | केरल कहानी विवाद: ‘द केरला स्टोरी’ को लेकर हो रहे विवाद पर बोलीं किसी ने रनौत

0
कंगना रनौत ने कहा, केरल की कहानी पर कुछ राज्यों द्वारा लगाया गया प्रतिबंध असंवैधानिक था, इसे सीबीएफसी द्वारा मंजूरी मिलने के बाद |  केरल कहानी विवाद: ‘द केरला स्टोरी’ को लेकर हो रहे विवाद पर बोलीं किसी ने रनौत

[ad_1]

केरल की कहानी पर कंगना रनौत: सुदीप्तो सेन (सुदीप्तो सेन) की फिल्म द केरला स्टोरी (द केरला स्टोरी) बॉक्स ऑफिस पर छप्परफाड़ कमाई कर रही है। ये फिल्म 200 करोड़ क्लब में शामिल हो चुकी है। वहीं, रिलीज से पहले से ही ‘द केरला स्टोरी’ को लेकर विवाद जारी है। कुछ लोग इस फिल्म को सपोर्ट कर रहे हैं, तो कुछ लोगों का कहना है कि ये एक प्रोपेगेंडा है। अब इस मामले में कंगना रनौत (कंगना रनौत) ने अपना रिएक्शन दिया है।

फिल्म पर प्रतिबंध लगाना संविधान का अपमान है

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, ‘केन्द्रीय फिल्म सत्यापन बोर्ड द्वारा फिल्म द केरला स्टोरी पर पास की गई कुछ राज्यों में प्रतिबंध को संविधान का अपमान माना गया है। किसी रनआउट ने रिपोर्टरों से कहा, ‘जिस फिल्म ने सेंसर बोर्ड को पास कर दिया है, उस पर प्रतिबंध लगाने वाला संविधान का अपमान है। द केरला स्टोरी को कुछ राज्यों में बैन किया जाना बिल्कुल गलत है।’

बॉलीवुड इंडस्ट्री के लोगों को शिकायत रहती है

एक्ट्रेस ने बताया कि लोगों को बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री से शिकायत रहती है कि जिस तरह की फिल्में वे देखना चाहते हैं, वैसी फिल्में नहीं बनाई जाती हैं। कंगना रनौत ने कहा, ‘जब द केरला स्टोरी जैसी फिल्म बनती है तो लोगों की शिकायत दूर हो जाती है। जिन फिल्मों को लोग देखना पसंद करते हैं, उनसे फिल्म इंडस्ट्री का मजा ही कुछ और होता है।’

सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म पर लगे बैन पर रोक लगाई रोक

आसानी हो कि पश्चिम बंगाल सरकार ने समुदायों के बीच तनाव को देखते हुए 8 मई को फिल्म द केरला स्टोरी (द केरला स्टोरी) पर प्रतिबंध लगा दिया था। तमिलनाडु के सिनेमा ने कानून-व्यवस्था की स्थिति और खराब दर्शकों की संख्या का हवाला देते हुए इसकी स्क्रीनिंग बंद करने का फैसला किया था। हालांकि, पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने राज्य में फिल्म पर रोक लगाने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार के आदेश पर रोक लगा दी और तमिलनाडु से फिल्म देखने वालों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का दावा किया।

यह भी पढ़ें-‘तितली’ में जलने को तैयार नेहा सोलंकी, जानें एक्ट्रेस की पढ़ाई के बारे में

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here