रूढ़िवादी परंपरा को तोड़ते हुए विधवा मां ने सौपा बेटे का मौर

रूढ़िवादी परंपरा को तोड़ते हुए विधवा मां ने सौपा बेटे का मौर

Spread the love

पाटन/ सामाजिक कुरीतियों को दूर करने के लिए दुर्ग जिले के पाटन तहसील के नगर पालिका परिषद अमलेश्वर में रूढ़िवादी परंपरा को दरकिनार करते हुए एक मां ने अपने पुत्र के विवाह में मौर सौंपकर रूढ़िवादी परंपरा को दरकिनार किया! छत्तीसगढ़ प्रदेश साहू संघ के अध्यक्ष टहल साहू एवं प्रदेश साहू संघ के आह्वान पर प्रदेश साहू संघ युवा प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष ओम प्रकाश साहू की पहल पर यह कदम उठाया। ओम प्रकाश साहू ने छोटे भाई यशवंत साहू के विवाह पर रूढ़िवादी परंपरा को तोड़ते हुए अपनी विधवा मां के हाथों अपने छोटे भाई यशवंत साहू का मौर सौंपकर ना सिर्फ मातृशक्ति को समाज में सम्मान देने का काम किया बल्कि समाज में एक नई परंपरा की शुरुआत की!


साहू समाज के प्रदेश अध्यक्ष टहल साहू अखिल भारतीय सैनिक महासभा युवा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप साहू एवं उनकी समस्त टीम ने इस पहल की सराहना की। ओम प्रकाश साहू की माता श्रीमती कामिनी साहू ने अपने पुत्र के इस पहल को एक साहसिक कदम एवं समाज के लिए मिसाल बताया।
उक्त वैवाहिक कार्यक्रम में अखिल भारतीय तैलिक महासभा के उपाध्यक्ष मोतीलाल साहू, तेलघानी बोर्ड के अध्यक्ष एवं अखिल भारतीय तैलिक महासभा के राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष संदीप साहू माननीय मुख्यमंत्री के ओएसडी आशीष वर्मा ,रायपुर संभाग के युवा अध्यक्ष पवन साहू, जिला साहू संघ के अध्यक्ष नंदलाल साहू, तहसील साहू संघ के अध्यक्ष दिनेश साहू, कार्यकारी अध्यक्ष लालेश्वर साहू, महासचिव खेमलाल साहू,तहसील साहू संघ पाटन के पूर्व अध्यक्ष एवं मंडी बोर्ड के अध्यक्ष अश्वनी साहू,जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष राजेंद्र साहू, जिला पंचायत दुर्ग के उपाध्यक्ष अशोक साहू, मीडिया प्रभारी किशन हिरवानी, अपेक्स बैंक के डायरेक्टर राकेश ठाकुर, नगर पालिका परिषद अमलेश्वर के अध्यक्ष नंदिनी कोठारी, उपाध्यक्ष उमेश कुमार साहू एवं नगर पालिका परिषद के समस्त सदस्य गण तहसील साहू संघ पाटन न्याय प्रकोष्ठ के सदस्य रामाधार साहू, तथा प्रदेश, जिला ,तहसील, परीक्षेत्र एवं स्थानीय साहू समाज के सामाजिक गण परिवार जन उपस्थित थे।

Welcome to WordPress. This is your first post. Edit or delete it, then start writing!

Feature political sports Uncategorized world संस्कृति