Home Lifestyle रकुल प्रीत क्रायोथेरेपी जानिए क्‍यों क्रायोएब्‍लेशन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है

रकुल प्रीत क्रायोथेरेपी जानिए क्‍यों क्रायोएब्‍लेशन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है

0
रकुल प्रीत क्रायोथेरेपी जानिए क्‍यों क्रायोएब्‍लेशन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है

[ad_1]

क्रायोथेरेपी: आजकल लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति बहुत सचेत हो गए हैं। अपनी फिटनेस से लेकर डाइटिंग तक सभी जरूरी चीजों पर ध्यान दे रहे हैं। आप को जवां, फेयरेस्ट और फिट रखने के लिए तरह-तरह थेरेपीज़ भी जुड़े हैं। इन लिमिटेड थेरेपीज़ में एक थेरेपी ‘क्रायोथेरेपी’ भी है, जिसे क्रायोब्लेशन के नाम से भी जाना जाता है। क्रायोथेरेपी में विभिन्न बीमारियों के इलाज के लिए ठंडे पानी का इस्तेमाल किया जाता है।

क्रायोथेरेपी एक प्रकार की शीत-चिकित्सा होती है। इस थेरेपी में बॉडी को एक ठंडे पानी की चेंबर में रखा जाता है। इस थेरेपी में व्यक्ति को बहुत ही कम तापमान में या ठंडे पानी में रखा जाता है। इस थेरेपी से शरीर में होने वाली ऐंठन और नसों में दर्द का इलाज किया जाता है। सिर्फ इतने ही नहीं, मस्से, तिल, सनबर्न जैसी स्किन प्रॉब्लम्स से उभरती हैं, यह थेरेपी आपकी काफी मदद कर सकती है।

रकुल प्रीत ने भी ली क्रायोथेरेपी

यह थेरेपी असामान्य टीशूज़ को ठंडा करके नष्ट कर देती है। इसके अलावा मस्से और स्किन टैग जैसी स्किन प्रॉब्लम्स का भी इलाज करती है। डॉक्टरों के मुताबिक क्रिस्टियानो रोनाल्डो जैसे कई मशहूर खिलाड़ी और क्रेज ने अब तक क्रायोथेरेपी ली है। कई लोग क्रायोथेरेपी से ठीक हो गए हैं।

हाल ही में बॉलीवुड एक्ट्रेस रकुल प्रीत ने भी बिकिनी में क्रायोथेरेपी ली थी। उन्होंने एक वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर किया है। रकुल प्रीत ने -15 डिग्री टेंपरेचर में ठंडे पानी में घुसने तक रुक गए। रकुल ने इंस्टाग्राम पर क्रायोथेरेपी की वीडियो शेयर की और बताया कि उन्होंने -15 डिग्री में ये थेरेपी ली.

स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार डॉक्टर आमतौर पर इन बीमारियों के इलाज के लिए क्रायोथेरेपी लेने की सलाह देते हैं…

1. बोन कैंसर
2. सर्वाइकल कैंसर
3. लीवर कैंसर
4. प्रोस्टेट कैंसर
5. शुरुआती त्वचा कैंसर
6. त्वचा से जुड़ी छोटी-मोटी परेशानी
7. बच्चों में कैंसर
8. स्किन टैग्स या डार्क स्पॉट्स
9. वात रोग
10. सूजन

क्रायोथेरेपी कैसे काम करती है?

स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं कि क्रायोथेरेपी से रक्त अधिक से अधिक ऑक्सीजन प्राप्त कर सकता है और पोषक तत्वों से भी भरपूर हो जाता है। जैसे-जैसे आप कोल्ड टेंपरेचर से दूर होते जाते हैं, वैसे-वैसे आपके शरीर का तापमान गर्म होने लगता है और ब्लड वैल्स का विस्तार होता है। एथलेटिक ट्रेनिंग जर्नल एक अध्ययन के अनुसार प्रकाशित करता है, इस थेरेपी से भरपूर तत्वों से भरपूर रक्त आपके टीशूज़ में टपकता है, जिससे सूजन की समस्या दूर हो जाती है।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें: नाक पर हुई फुंसी को पिंपल समझ रही महिला, जांच हुई तो पता चला कि ‘जानलेवा कैंसर’ है

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here