छत्तीसगढ़ बलरामपुर रामानुजगंज के युवकों को सब-इंस्पेक्टर ने मिड रोड में पीटा एसपी ने दिए जांच के आदेश एएनएन

0
54
छत्तीसगढ़ बलरामपुर रामानुजगंज के युवकों को सब-इंस्पेक्टर ने मिड रोड में पीटा एसपी ने दिए जांच के आदेश एएनएन
Spread the love


बलरामपुर समाचार: पुलिसिया हरबता की कहानी सुनने को मिलती है। ऐसा ही एक मामला छत्तीसगढ़ (छत्तीसगढ़) के बलरामपुर के रामानुजगंज का है, जहां एक पुलिस वाले ने अपनी आन बान शान के लिए बीच सड़क पर ही हरबरीता को दिखाया जुड़ा कर दी। इस ब्रुत के बाद पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठना लाजमी है। आज पुलिस की पिटाई का एक ऐसा ही वीडियो जिले के वाड्रफनगर से जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें नगर के पुलिस चौकी चार्ज दो युवकों को सरेराह पीटते नजर आ रहे हैं. मामला मामूली बहस का बताया जा रहा है। लेकिन ये मामूली सी राय सभी पर्यवेक्षक साहब को सहनी नहीं हुई और उन्होंने लड़कों के सामने मारपीट शुरू कर दी।

वायरल वीडियो रविवार दोपहर बाद बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार जिले के वाड्रफनगर जैसे महत्वपूर्ण चौकी के प्रभार विनोद पासवान को आपका तेज तेवर के लिए जाना जाता है। बीते रविवार को साहब अपनी कार से कहीं भी अपने काम के लिए निकले थे। तभी साहब को बस स्टैंड के पास एक मेडिकल स्टोर के बाहर एक मोटरसाइकिल सवार दिखाई दिया। जिसके बाद सभी इंस्पेक्टर विनोद पासवान ने अपने चक्कर में मोटरसाइकिल को साइड करने के लिए कहा। इस बात को लेकर जिम्मेवारी और युवकों के बीच कहा सुनी हो गई। यहां तक ​​कि युवक और सब इंस्पेक्टर ने जांच शुरू की। तब विनोद पासवान ने पुलिस चौकी के बल को फोन करके फोटोग्राफी पर बुलाया। और फिर साहब ने सरेराह युवकों की पिटाई शुरू कर दी। बीट का ये चिल कुछ मिनट तक चलता रहता है।

प्रतिबंधात्मक कार्यवाही में मिलीं जमानतों को जमानत

वाड्रफनगर चौकी प्रभार विनोद पासवान के द्वारा पीटने का ये वीडियो वहां रुक किसी सख्स ने बना लिया। जिसके बाद ये ये वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में जमकर वायरल हो रहा है। हालांकि युवकों की पिटाई के बाद दोनों को पुलिस टीम चौकी ले गई। जहां पुलिस ने दोनों के खिलाफ धारा 151 की धारा 151 के तहत मुकदमा दायर करने के बाद दोनों को एसडीएम कोर्ट में पेश किया। जहां से दोनों को जमंत मिल गए और वो रिहा हो गए।

शराब के नशे में हुड़दंग कर रहे थे युवक- एस.पी

बलरामपुर-रामानुगंज जिले के एसपी मोहित गर्ग ने एबीपी न्यूज से बताया कि मेरी पास रिपोर्ट आई है। दोनों लड़के रमेश और राजेश शराब के नशे में हुड़दंग कर रहे थे। साथ ही वहां के वेंडरर्स को परेशान कर रहे थे। उसी दौरान चौकी प्रभार विनोद पासवान वहां से किसी अपने काम के लिए गुजर रहे थे, जहां उन्होंने दोनों लड़कों को बुलावा कर बाइक हटाने के लिए कहा. सिविल ड्रेस में होने के कारण वो युवक चौकी को पहचान नहीं मिल पाई। इसलिए फिर पुलिस टीम को बुलाया गया और दोनों का हकमारी चेकअप किया गया तो दोनों शराब का सेवन करते पाए गए। एसपी ने बताया कि उनके इस हरकत पर उन पर प्रतिबंधात्मक मामला दर्ज किया गया है। दुर्घटना चौकी द्वारा पिटाई के सवाल पर एसपी श्री गर्ग ने कहा कि मैंने प्राधिकरण वाड्रफनगर को इस संबंध में जांच करने के निर्देश दिए हैं। जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: बस्तर में इंटर्न डॉक्टरों ने लापरवाही से डीएसपी की लात घूसों से की पिटाई, 15 पर एफआईआर दर्ज



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here