महाराष्ट्र भाजपा प्रमुख चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा, अजित पवार से कभी संपर्क नहीं किया  महाराष्ट्र: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष का बड़ा बयान

[ad_1]

महाराष्ट्र समाचार: महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने सोमवार को दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी ने एनसीपी नेता अजित पवार से कभी भी संपर्क नहीं किया, इस तरह की खबरें फैलाई जा रही हैं वे फेफड़े हैं। उन्होंने कहा कि वास्तव में अजित पवार को महाविकास अघाड़ी द्वारा तैयार किया जा रहा है।

‘शरद पवार की इस्तीफ़ा देने का फैसला नौटंकी था’

पुणे में बीजेपी के सर्वेक्षण के आरोप लगाने वालों ने एक सम्मेलन के दावों पर चापलूस से बात करते हुए बावनकुले ने दावा किया कि शरद पवार के एनसीपी के पद से इस्तीफा देने और बाद में यू-टर्न लेने का फैसला नौटंकी के अलावा कुछ नहीं था। उन्होंने कहा कि भ्रम की पूरी कहानी स्क्रिप्टेड थी।

‘एमवीए अजित छाया को बना रही’

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पिछले चार महीने से मेरे और अजितपवार के बीच कभी कोई संपर्क नहीं हुआ। अजित पारा को एमवीए धब्बे बना रहा है। हमने कभी भी अजित ‘दादा’ से संपर्क नहीं किया, इसे लेकर केवल संचार खबरें फैलाई जा रही हैं। बता दें कि महाराष्ट्र की राजनीति में पिछले कई दिनों से ये खबरें चल रही हैं कि अजित पवार भाजपा को ज्वाइन कर सकते हैं। हालांकि इन खबरों को नकारते हुए अजित घुमावदार कह रहे हैं कि वह जीवन पर्यन्त एनसीपी में बने रहेंगे।

शरद पर साधा

अज्ञात के भ्रम पर बावनकुले ने कहा कि शरद शरद मेरा यह दृढ़ विश्वास है कि शरद शरद बड़े नेता हैं जो अपने संविधान में बदलाव करके रायत शिक्षण संस्थान सहित कई सदस्य के अध्यक्ष बने हो वो उनके द्वारा बनाई गई पार्टी का कोई और को अध्यक्ष बनने की अनुमति कैसे दे सकता है।

वहीं जब उनसे पूछा गया कि कर्नाटक चुनाव में उनके 40 उम्मीदवार क्या एमसीपी बीजेपी की बी टीम की भूमिका निभा रहे हैं? इस पर उन्होंने कहा कि इस तरह की सही पकड़ नहीं है। उन्होंने कहा कि बीजेपी को एनसीपी की मदद की जरूरत नहीं है। कर्नाटक में बीजेपी की लोअर टैब तक पकड़ है। पीएम मोदी वहां तक ​​पहुंच गए हैं और हमें विश्वास है कि बीजेपी 105 से ज्यादा टिकट जीतकर फिर से सरकार बनाएगी।

यह भी पढ़ें: ठाणे: बजरंग दल विवाद पर धीरे-धीरे चंद्र कृष्ण शास्त्री ने दिया बड़ा बयान, कहा- ‘ये हमारा दुर्भाग्य…’

[ad_2]

Source link

Umesh Solanki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *