घिस में भूनकर नहीं… इस तरह खाना चाहिए मखाने! वरना हो सकता है पेट की यह गंभीर बीमारी

0
89
 घिस में भूनकर नहीं... इस तरह खाना चाहिए मखाने!  वरना हो सकता है पेट की यह गंभीर बीमारी
Spread the love



<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफ़ाई करें;">मखाना शरीर के लिए पोषक तत्वों से अधिक उच्च नुकसानदायक भी होता है। अगर आप हद से ज्यादा मखाना खाते हैं तो आज से ही छोड़ दें क्योंकि यह मुफ़्त में आपको पेट की कई सारी बीमारी दे सकता है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि अक्सर लोग व्रत, शाम के दस्तावेजों में मखाना खाते हैं। जिन लोगों को पता है कि कितनी मात्रा में खाना है उनके लिए कोई बात नहीं है, लेकिन जिन्हें मखाना बहुत पसंद है और वे खाते खाते मात्रा मात्रा नहीं देखते उन लोगों के लिए यह लेख खास है।

आइए जानते हैं कि क्यों कहा जाता है कि ज्यादा मात्रा में खाना क्यों नहीं खाना चाहिए?

मखाने में फाइबर की मात्रा अधिक होती है। साथ ही इसमें सोडियम कम होता है। लेकिन इसमें मैग्नीशियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, थायामिन, प्रोटीन और फास्फोरस जैसे तमाम गुण होते हैं। इसलिए कहा जाता है कि मखाना खाने से बहुत अधिक फायदे होते हैं। खासकर जिन लोगों को पेट की परेशानी अक्सर रहती है। पेट साफ नहीं रहता है उन लोगों को फाइबर युक्त मखाना पचाने में कई तरह की परेशानी हो सकती है। 

अगर आपका पेट कमजोर है

आपको किसी भी चीज को पचाने में खासा परेशानी होती है। इसलिए आपको खाने से बचना चाहिए। ये खाना पेट के लिए काफी भारी होता है। क्योंकि मखाने में जो फाइबर होता है उसे पचाने के लिए पेट को ज्यादा से ज्यादा पानी की जरूरत होती है। जब आप इसका सेवन करते हैं तो यह पेट के पानी को धीरे-धीरे पतला होने लगता है। ऐसे में ज्यादा मात्रा में खाना खाना पेट के लिए ठीक नहीं है। इससे आपको परेशानी हो सकती है। साथ ही पेट में दर्द और ब्लोटिंग की परेशानी भी शुरू हो सकती है। इसलिए उन्हें कोई भी चीज पचाने में परेशानी होती है उन्हें बिल्कुल कम या खाना नहीं खाना चाहिए। 

किडनी स्टोन की परेशानी

अगर आपको किडनी है स्टोन की शिकायत है तो आपको खाना नहीं खाना चाहिए। दरअसल, किडनी में पथरी शरीर में कैल्शियम बढ़ने के कारण होती है। ऐसे में अगर आप कैल्शियम से भरपूर खाते हैं तो यह खतरनाक रूप से रिकॉर्ड कर सकते हैं। इसलिए किडनी में स्टोन की शिकायत है तो बिल्कुल मखाना खाने से बचें।

डायरिया सटीक भूल से भी नहीं पकड़ी जाती है

डायरिया में मखाना खाना बिल्कुल खतरनाक साबित हो जाता है हो सकता है। मखाना फाइबर से भरपूर है। और फाइबर डायरिया को बढ़ावा दे सकता है। 

घी में मखाना भूनकर नहीं ताकतवर

घी में मखाना भूनकर खाने से और जिन लोगों को पेट की बीमारी उनके लिए काफी हानिकारक होती है। क्योंकि घी में भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है और मखाना में फाइबर पाया जाता है। ऐसे में इसके साथ पचाना नुकसानदायक हो सकता है। .

<एक शीर्षक="<strong>ये भी पढ़ें: Diabetes Symptoms: ये हैं गर्मियों की पार्टनर बीमारी, जो शुगर बढ़ सकती हैं... सावधान रहें</strong>" href="https://www.abplive.com/lifestyle/health/diabetes-symptoms-is-a-serious-lifestyle-disease-2403242" लक्ष्य ="_खुद"ये भी पढ़ें: Diabetes Symptoms: ये हैं लूलिन की ‘नरम बीमारी’, जो शुगर पार्ट हो जाती हैं… सावधान रहें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here