दिल्ली एलजी वीके सक्सेना ने ग्रीनरी मिशन यमुना बैंक चेरी ब्लॉसम और चिनार ट्री ऐन शुरू किया

[ad_1]

यमुना नदी समाचार: यमुना के तट को लेकर क्षेत्रों की तस्वीरों को बदलते हुए दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना का लगातार निरीक्षण करने का सकारात्मक असर सामने आने लगा है। इसके अलावा उन्होंने अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए निर्धारित समय में 11 किलोमीटर तक के तटवर्ती क्षेत्रों को पूरी तरह से बदलने का आदेश दिया है, जिसके बाद शुरुआती चरण में पहले की तुलना में यमुना नदी भी साफ दिखाई दे रही है। यमुना के तटवर्ती क्षेत्रों में आवंटन, सुंदरीकरण, हरियाली मिशन को बढ़ावा और स्वच्छता अभियान जैसे कार्यों को लगातार गति दी जा रही है और अब तटवर्ती क्षेत्रों में विशेष प्रकार का आवंटन होने से हिंदुस्तान के खूबसूरत और चर्चित राज्यों की झलक भी दिल्ली में ही देखें को जाओ।

दिल्ली के यायामा नदी के तटवर्ती क्षेत्रों में पहली बार कई विशेष प्रजातियों के हजारों उपग्रह लगाए गए हैं, जिनमें चिनार और चेरी ब्लॉसम के सूक्ष्मांक भी शामिल हैं। इससे पहले राजधानी दिल्ली में ऐसे तत्वों को कभी नहीं लगाया गया है। इसके अलावा बोगनवेलिया, कनेर, सेमल और कचनार जैसे संयंत्र भी लगे हैं। चेरी ब्लॉसम के पेड़ में मुख्य रूप से सफेद और गुलाबी रंग के खूबसूरत फूल होते हैं और ज्यादातर यह शिलांग, बैंगलोर और संचार जैसे शहरों में अधिक देखे जाते हैं। वहां की प्रकृति इस विशेष प्रकार के प्रकारों के लिए काफी उपयुक्त है। वहीं चिनार के पेड़ को हम ज्यादातर जम्मू कश्मीर में देखते हैं इसमें अधिक पत्ते भी हैं। इस तरह के खास शेप के दिखने से यमुना के तटवर्ती क्षेत्रों की तस्वीर बदल जाएगी। जहां पहले इन इलाकों से दुर्गान्ध और गंदगी की वजह से लोगों की मुश्किल हो जाती थी, वहीं ये सुगंध फूल अब लोगों को देश के दूसरे राज्यों की याद दिलाएंगे।

जून तक दिखने लगेंगे यायामा की तस्वीरें

यमुना के तटवर्ती क्षेत्रों में स्वच्छता, आवंटन आवंटन और सुंदरीकरण सहित कई कार्यों को गति देने के लिए उप राज्यपाल अधिकारियों को लगातार दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं। इसके अलावा, वह खुद के अधिकारियों के साथ यामा के तटवर्ती क्षेत्रों का कई बार दर्शनीय स्थलों पर नज़र रखता है और जून के अंतिम सप्ताह में यह रास्ता बन रहा है, जब तक कि यमुना की सही तस्वीर भी सामने नहीं आ जाती।

ये भी पढ़ें: दिल्ली मेट्रो: मेट्रो में टोकन नहीं, क्यूआर कोड वाले पेपर टिकट से एंट्री करें, 1 घंटे के अंदर यात्रियों ने ये काम नहीं किया तो…

[ad_2]

Source link

Umesh Solanki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *