जानिए पुरुषों के लिए शतावरी के स्वास्थ्य लाभ

[ad_1]

शतावरी के फायदे: शतावरी एक जड़ी बूटी है जो वर्षों से कई बीमारियों को रोकने या इलाज के लिए इस्तेमाल की जा रही है। शतावरी में प्रोटीन, शुगर, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन पाया जाता है। इसके अलावा ये विटामिन का भी अच्छा स्रोत है। शतावरी का सेवन करने से पुरुषों को कई तरह की समस्याओं का फायदा मिल सकता है। आइए जानते हैं पुरुषों के लिए शतावरी के फायदे क्या हैं

शारीरिक क्षमता में वृद्धिए-शतावरी खाने से शारीरिक क्षमता बढ़ाने में मदद मिलती है। इन पुरुषों के यौन जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। एनसीआईबी की रिपोर्ट के मुताबिक, शतावरी के सेवन से पुरुषों में कामेच्छा की कमी को ठीक किया जा सकता है। अध्ययनों में देखा गया है कि शतावरी के सेवन से पेनाइल इलेक्शन में वृद्धि हो सकती है। जिन लोगों को ऐसी कोई भी समस्या है वो नियमित रूप से शतावरी और दूध का सेवन कर सकते हैं।

जन्म क्षमता को बढ़ावा दें-शतावरी खाने की क्षमता सबसे अधिक होती है। एनसीआईबीएन के ही अध्ययन के अनुसार क्षमता को बेहतर करने में लाभ हो सकता है। शतावरी का काम यौन गतिविधियों और शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ा सकता है। जिसकी वजह से पुरुषों में प्रजनन क्षमता बेहतर हो सकती है। इनफर्टिलिटी की परेशानी भी दूर कर सकती है। नियमित रूप से रात में सोने से पहली शताब्दी का संकल्प करने से यौन शक्ति में वृद्धि होती है।

स्वप्नदोष करे दूर-यदि कोई पुरुष स्वप्नदोष से पीड़ित है तो उसे शतावरी का उपाय करना चाहिए। इससे यह समस्या खत्म हो सकती है। इस समस्या को दूर करने के लिए ताजा शतावरी की जड़ का चूर्ण बना लें और इसे मिलावट के साथ मिलाकर पीसकर ताकतवर बना लें। नियमित रूप से सुबह-शाम का सेवन करने से लाभ योग मुमकिन है।

शारीरिक कमजोरी दूर करें-शतावरी में एंटीऑक्सीडेंट और ग्लूटाथियोन नामक तत्व होता है। जो बढ़ती उम्र की प्रक्रिया को धीमा करने में आपकी मदद करता है। नियमित रूप से इसके सात से पुरुषों को जकड़न का काम और शारीरिक कमजोरी को दूर करने में मदद मिलती है।

इनमें भी फायदा हो सकता है

शतावरी का नियमित रूप से सेवन करने से कैंसर जैसी घातक बीमारी को दूर किया जा सकता है। इसमें एंटी कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो शरीर में कैंसर की एकता विकसित होने से ही उभर रहे हैं। इसके अलावा पाचन तंत्र को भी करता है। शतावरी में मौजूद फाइबर इंट और पेट में होने वाली चीजें दूर होने में असरदार हो सकती हैं। इसके सेवन से गुड बैक्टीरिया को बढ़ावा मिलता है। इससे शरीर में भोजन पचने में मदद मिलती है। इससे बवासीर और इरिटेबल बाउल सिंड्रोम और अन्य पाचन संबंधी समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *