ताज़गी के लिए गर्मियों में नहाने के लिए पानी में प्राकृतिक सामग्री मिलाएँ

[ad_1]

ग्रीष्मकालीन स्नान युक्तियाँ: गर्मियां शुरू होते ही कई सारी समस्याएं दिखाई देने लगती हैं। ये सबसे आम समस्या स्किन की समस्या है। अक्सर गर्मियों में रैशेज, घमौरियां,पसीने की वजह से दाद, खुजली, इंफेक्शन की समस्या बनी रहती है। इससे छुटकारा पाने के लिए लोग दिनों में कई बार नाहाते हैं। लेकिन समस्या जस की तस बनी रहती है। अगर आप भी गर्मियों में स्किन प्रॉब्लम से जूझ रहे हैं और हर समय थकान महसूस करते हैं तो हम आपको कुछ तरीके बता रहे हैं, जिसे अपनाकर नहाने से आप हर घंटे फ्रेश महसूस करेंगे और आपको भीनी-भीनी सुगंध का एहसास होगा। आइए जानते हैं वो तरीका क्या है।

नीम के पत्ते-गर्मी में जब भी आप नहाएं नहाने के पानी में नीम के पत्ते या नीम का तेल मिलाते हैं तो ऐसा नहीं करते हैं तो आपकी त्वचा रुकी रहती है। गर्मियों में होने वाली स्किन की समस्या खुजली, फोड़े, फुंसी, घमौरियां, दाने रैशेज, चकत्ते की समस्या से निजात मिलती है। क्योंकि नीम में गैर-विपरीत और एक-दूसरे के गुण होते हैं जो आपको इन चीजों से दूर रखता है।

गुलाब के पत्ते-नहाने से पहले आप पानी में गुलाब की ताजगी के रिश्ते को भी नहीं देखेंगे तो आप बिल्कुल तरोताजा महसूस करेंगे। गर्मियों में नहाने के पानी में गुलाब के पत्ते मिले होने से शरीर से भीनी-भीनी महक आती है, साथ ही पसीने से होने वाली बदबू को भी कंट्रोल करने में मदद करता है। आप पूरे दिन फ्रेश महसूस करते हैं।

चमेली के फूल-आप नहाने के पानी में चमेली के फूल भी डाल सकते हैं। ऐसा करने से आपको काफी शांति मिलेगी। आपके शरीर से बहुत ही अच्छा दुर्गंध आएगी और जब ऐसा होगा तो आपका स्ट्रेस लेवल अपने ही कम होगा।

हल्दी –गर्मी के मौसम में हल्दी के पानी से नहाने से आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। हल्दी के पानी में एंटी बैक्टीरियल, एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटी एजिंग गुण होते हैं, जो आपकी त्वचा को स्वस्थ रखते हैं। गर्मियों में होने वाली स्किन प्रॉब्लम जैसे घमौरियां, दाने और चेहरे पर होने वाले पिंपल से निजात दिलाते हैं। स्किन टैनिंग की समस्या को भी कम किया जाता है।

दूध-पानी में दूध मिलाकर नहाने से त्वचा चमकदार और स्वस्थ हो जाती है। दूध में पाया जाने वाला लैक्टिक एसिड और अल्फा ड्राइडोक्सी एसिड त्वचा की मृत त्वचा को हटा देता है।

ये भी पढ़ें: डायरेक्ट के नल के पानी से कभी न रोगियों का चेहरा… स्किन ही नहीं, बालों को भी इस तरह से नुकसान होगा

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *