वट सावित्री व्रत 2023 पूजा का समय गजकेसरी शोभन शश योग पूजन विधि उपाय

0
104
वट सावित्री व्रत 2023 पूजा का समय गजकेसरी शोभन शश योग पूजन विधि उपाय
Spread the love


वट सावित्री व्रत 2023 तिथि: वट सावित्री व्रत 19 मई 2023 को रखा जाएगा। इस दिन सुहागिनें पति की लंबी उम्र, सुहाग की रक्षा के लिए सनराइजर्स से लेकर सनसेट तक रैश हैं। ऐसा कहा जाता है कि वट सावित्री का व्रत चौथ जितना फल देने वाला होता है। इस साल वट सावित्री व्रत के दिन कुछ खास योग का संयोग बन रहा है जो इस दिन का महत्व युगल बना रहा है। आइए जानते हैं वट सावित्री व्रत के शुभ योग और उपाय

वट सावित्री व्रत 2023 पूजा मुहूर्त (वट सावित्री व्रत 2023 Muhurat)

वट सावित्री व्रत ज्‍येष्‍ठ मास की अमावस्‍या पर रखा जाता है। इस साल अमावस्या तिथि 18 मई की रात 9 बजकर 42 मिनट पर लगेगी और समापन 19 मई की रात 9 बजकर 22 मिनट पर होगा। वट सावित्री व्रत में वट वृक्ष यानी बरगद के पेड़ की पूजा का विधान है, इस दिन सुबह 07.19 मिनट से सुबह 10.42 मिनट तक शुभ मुहूर्त है।

वट सावित्री व्रत 2023 शुभ योग (वट सावित्री व्रत 2023 शुभ योग)

  1. शोभन योग – वट सावित्री व्रत पर 18 मई 2023 को रात 07.37 मिनट से 19 मई 2023 को शाम 07.17 मिनट तक शोभन योग रहेगा। शोभन योग को बहुत ही शुभ माना जाता है। इस योग में पूजन करने से व्यक्ति की चमक बढ़ती है, अनुरुप जीवन में खुशियों का आगमन होता है।
  2. गजकेसरी योग – वट सावित्री अमावस्या के दिन चंद्रमा गुरु के साथ मेष राशि में होंगे, इससे गजकेसरी योग बनेगा, इस योग में पूजा और शुभ काम करने से साधक हाथी के रूप में बल और लक्ष्मी जी का आशीर्वाद मिलता है।
  3. शश राजयोग – इस दिन शनि जयंती भी है और वट सावित्री व्रत वाले दिन शनि अपनी राशि कुंभ में विराजमान होंगे, जिससे शश राजयोग का निर्माण होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शश राजयोग समाज में मान सम्मान और आयु में वृद्धि का आकलन है।

वट सावित्री व्रत उपाय (वट सावित्री व्रत उपाय)

  • वट सावित्री व्रत के दिन जो व्रती बरगद का पौधा लगाता है उसका अनुरुप जीवन कभी तनाव में नहीं रहता है। आर्थिक आर्थिक संकट समाप्त हो जाता है और पति को दीर्धायु का वरदान मिल जाता है।
  • वट सावित्री व्रत सुहागिनों का पर्व होता है, कहते हैं सुहाग की सामग्री का दान करने से पति की आयु में वृद्धि होती है। ऐसे में इस दिन चूड़ी, बिंदी, धनु, कुमकुम, हल्दी, का सुहागिनों का दान करें और वट वृक्ष के पेड़ की थोड़ी सी जड़ को पीले कपड़े में बांधकर अपने पास सुरक्षित रखें, इससे धन लाभ होगा तो ही, पारिवारिक जीवन में कभी संकट नहीं आया।

Sawan 2023 Date: शिव जी को प्रिय है सावन का महीना, कब शुरू होगा और कब निकलेगा, यहां जानें श्रावण मास की सही तारीख

अस्वीकरण: यहां देखें सूचना स्ट्रीमिंग सिर्फ और सूचनाओं पर आधारित है। यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी विशेषज्ञ की जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित सलाह लें।



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here