वारिस पंजाब दे: अमृतपाल सिंह की वजह से अमृतसर में हुए 3 ब्लास्ट!  आईईडी बनाने वाले मास्टरमाइंड ने खुद ही बड़ा खुलासा किया है

[ad_1]

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफ़ाई करें;"पंजाब न्यूज: अमृतसर के स्वर्ण मंदिर इलाके में एक के बाद एक तीन धमाके करने वाले निशान को गुरुवार को पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इन पांचों में से सबसे बड़ा एक्सएक्सएक्सवीर के बारे में एक अहम खुलासा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो आजादवीर वारिस पंजाब डे के हेडमास्टर अमृतपाल सिंह के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई से नाराज थे। इसलिए उसने बम धमाकों की घटनाओं को अंजाम दिया।

<p style="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफ़ाई करें;"खालिस्तानी समर्थक आजादवीर
इन तीनों धमाकों में आईडी का इस्तेमाल किया गया था। मास्टरमाइंडआजवीर सिंह अमृतसर के वडाला कलां का रहने वाला है और खालिस्तानी समर्थक है। आजादवीर पर पहले भी धार्मिक भड़काने के मामले दर्ज हो चुके हैं। बताया जा रहा है कि जून 2021 में छेहर्टा की भल्ला कॉलोनी निवासी दीपक शर्मा ने आजादवीर के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने का केस दर्ज किया था। जिसके बाद आजादवीर पर कार्रवाई करने के लिए श्रीराम बालाजी धाम चेयर टेबल ट्रस्ट के श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर स्वामी अशनील महाराज ने पुलिस कमिश्नर से मुलाकात की थी। इसके बाद उन्हें पाकिस्तान से ईरान की खाड़ी में भेजा गया था। तब महामंडलेश्वर ने पुलिस को बताया था कि आजादवीर का पाकिस्तान में बैठे लोगों से भी संपर्क है। लेकिन पुलिस ने इसे हल्का कर लिया और कोई बड़ी कार्रवाई आजादवीर पर नहीं की।

<p style="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफ़ाई करें;"आजादवीर ने बम के साथ खिंचवाई फोटो
हिंदी अखबार अमर उजाला के अनुसार पुलिस जांच में सामने आया है कि आजादवीर ने धमाकों से पहले सारागढ़ी पार्किंग की छत पर हाथ में बम लेकर फोटो भी खिंचवाई। जिसका फोटो आजादवीर के मोबाइल से बरामद किया गया है। आजादवीर और उनके साथियों की तरफ से शक हेरिटेज स्ट्रीज को बम विस्फोट के लिए चुना गया था। ताकि क्षेत्रीय में वो फैला सकें। बताया जा रहा है कि जरनैल सिंह भिंडरावाला को आज़ादवीर सिंह अपना आदर्श चुनते हैं। नशा करने का आदी होने के बाद वो अपराध की दुनिया में शामिल हो गया। 

<p style="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफ़ाई करें;"यह भी पढ़ें: हरियाणा सरकार: सीएम मनोहर खट्टर का बड़ा एलान, अब 55 गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को सरकारी आर्थिक सहायता

[ad_2]

Source link

Umesh Solanki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *