यात्रा युक्तियाँ उत्तराखंड श्रीनगर प्रसिद्ध हिल स्टेशन वैली व्यू पॉइंट कीर्तिनगर

[ad_1]

उत्तराखंड श्रीनगर : उत्तराखंड (उत्तराखंड) से घूमना काफी फेयरेस्ट है। जम्मू-कश्मीर की तरह ही यहां भी एक श्रीनगर (श्रीनगर) बसता है। यह इतनी हसीन जगह है कि एक बार यहां आकर सबकुछ भूल जाने का मन कर लेता है। हसीन वादियों का मई-जून और जुलाई के महीने को गजब का शानदार नजारा शानदार बना देता है। यहां आकर ऐसा लगता है मानो जन्नत में पहुंच गए हैं। आइए जानते हैं उत्तराखंड के श्रीनगर की खूबसूरत डेस्टिनी पार्टनर्स के बारे में…

वैली व्यू पॉइंट (वैली व्यू पॉइंट)

श्रीनगर में शहर से कुछ ही दूरी पर बसा वैली व्यू पॉइंट देखकर मन शांत हो जाता है। यह दृश्य इतना दिव्य है कि बस लगता है समूह का रूप देखें। कहा जाता है कि यहां का व्यू पॉइंट जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर व्यू पॉइंट को भी भेजता है। हिमालय के गजब के नज़ारे यादों में कैद हो जाते हैं। खूबसूरती एक टक से निहारते ही रहने का मन करता है। नामांकित तो यहां की सुंदरता में चार चांद बनाता है।

कीर्तिनगर (कीर्तिनगर)

बात घूमने की हो और आप श्रीनगर आ गए तो कीर्तिनगर भी निश्चित रूप से जाना चाहिए। शहर से सिर्फ 6 किलोमीटर दूर कीर्तिनगर बेहद ही खूबसूरत गांव है। यहां बड़ी संख्या में टूरिस्ट आते हैं। अलकंदा नदी के किनारे वे अपना समय बोलते हैं। यहां से हिमालय का बेहतरीन नजारा देखने को मिलता है। हर सुविधा यहां आपको मिल जाएगी।

नायर (नौर)

प्रकृति प्रेमियों के लिए उत्तराखंड की सबसे हसीन जगहों में नौर का नाम भी आता है। खूबसूरत पहाड़, कल-कल करती नदी, देवदार के पेड़ खूबसूरत नदी, देवदार के पेड़ और घास सबसे अच्छा लुक देती है। हर घंटे बादल बादलों से इस जगह का मौसम बेहद सुहाना होता है। यहां की स्थानीय परंपरा आपके दिल को जीत लेगी।

श्रीनगर में और कहाँ घूम सकते हैं

वैली व्यू पॉइंट, कीर्तिनगर के अलावा आप श्रीनगर में कई खूबसूरत नज़ारों के साथ घूम सकते हैं। इसमें धारी देवी मंदिर, देवलगढ़ रोड और मलेथा जैसे चमत्कार के डेस्टिनेशन हैं। आप गोल बाजार में खरीदारी भी कर सकते हैं।

श्रीनगर पहुंचने का सबसे आसान तरीका

श्रीनगर जाना है तो सबसे पहले आप ऋषिकेश या पैदल बस पकड़ें और यहां पहुंचें। ऋषिकेश से श्रीनगर की दूरी सिर्फ 109 किलोमीटर ही है। उत्तराखंड के देवप्रयाग से भी आप श्रीनगर बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां से श्रीनगर सिर्फ 36 किमी ही है। देवप्रयाग से कैब या टैक्सी मिल जाती है।

यह भी पढ़ें

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *