पूरे दिन एयर कंडीशनर के इस्तेमाल से एसी के साइड इफेक्ट, आपकी सेहत और शरीर को बिगाड़ देंगी ये 5 बीमारियां

0
43
पूरे दिन एयर कंडीशनर के इस्तेमाल से एसी के साइड इफेक्ट, आपकी सेहत और शरीर को बिगाड़ देंगी ये 5 बीमारियां
Spread the love


एयर कंडीशनर साइड इफेक्ट्स: अब ज्यादातर लोगों ने अपने घरों में एयर कंडीशनिंग एसी लगवा लिया है। इसमें कोई संभावना नहीं है कि भीषण गर्मी के प्रकोप से होने वाले नुकसान में एसी हमारी काफी मदद करता है और मई-जून की गर्मी में दिसंबर-जनवरी जैसी ठंड का एहसास होता है। लेकिन कुछ लोगों को पूरे दिन एसी में रहने की आदत होती है। उन्हें अगर थोड़ी देर के लिए भी गर्मी का सामना करना पड़ता है तो वो परेशान हो जाते हैं। माना कि एसी आपको गर्मी से राहत देने का काम करता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पूरे दिन एसी में बने रहने से आपको कई भौतिक संग्रह का सामना करना पड़ सकता है? आइए जानते हैं ज्यादा एयर कंडीशनिंग में रहने से आपको कौन-कौन सी जीवाणु हो सकते हैं?

1. बहुत थकान या कमजोरी: एक शोध के अनुसार जिन लोगों के घर या ऑफिस में एयर क्लासेस हैं, वे जरूरत से ज्यादा थकान और कमजोरी महसूस कर सकते हैं। यदि आप एसी में ज्यादा रहते हैं तो आपको अधिक सुस्ती महसूस हो सकती है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि आप कम से कम एसी का इस्तेमाल करें या एसी को ज्यादा टेंपरेचर पर चलाएं।

2. डिहाइड्रेशन : यह दूसरी समस्या है, जो ज्यादा एसी में रहने वालों को दिखाई देती है। डिहाइड्रेशन आपकी में एक खतरनाक बीमारी है, जिस पर ध्यान न देने से आप कई तरह की धोखाधड़ी कर सकते हैं।

3. सूखी और खुजली वाली त्वचा: ज्यादा लेट एसी में दिखने से त्वचा पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है। आपकी त्वचा रूखी और खुजलीदार हो सकती है। अक्सर त्वचा का रूखापन डिहाइड्रेशन से होता है।

4. सिर दर्द: जो लोग एयर कंडीशनिंग में अपना ज़्यादा ज़ख़्म लेते हैं, उनमें सिरदर्द की समस्या पैदा हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि एयर कंडीशनिंग से कमरे का वातावरण शुष्क हो जाता है, जिसकी वजह से लोग हाइड्रेशन महसूस करते हैं और इसी वजह से सिर दर्द की परेशानी पैदा होती है।

5. रेस्पिरेटरीबल प्रोम्स: एसी में ज्यादा समय से रेस्पिरेटरी प्रॉब्लम्स शुरू हो सकती हैं, खासकर नाक और गलें में। इन समस्याओं में आमतौर पर नाक का बंद होना, गले का सूखना या राइनाइटिस शामिल हैं। चूंकि एयर कंडीशनिंग की हवा बहुत ज्यादा सूखी होती है, इसलिए इससे गले में जलन और जलन की समस्या पैदा हो सकती है।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें: व्हाइटहेड्स: ‘व्हाइटहेड्स’ को नज़रअंदाज़ कर दिया जाए तो आपका पूरा चेहरा खो जाएगा, इन 3 तरीकों से घर पर ही हासिल करें उपाय

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here