पुष्य नक्षत्र 2023 तिथि और समय सोने की बाइक खरीदें कार और संपत्ति शुभ मुहूर्त गुरु पुष्य

0
303
पुष्य नक्षत्र 2023 तिथि और समय सोने की बाइक खरीदें कार और संपत्ति शुभ मुहूर्त गुरु पुष्य
Spread the love


गुरु पुष्य नक्षत्र 2023: शास्त्रों के अनुसार व्रतों में एकादशी और नक्षत्रों में पुष्य नक्षत्र राजा माने जाते हैं। गुरु, नक्षत्र स्वामी- शनि, आराध्य वृक्ष- पीपल, नक्षत्र प्राणी- बकरी तथा तत्व अग्नि हैं। ज्योतिष के अनुसार देवगुरु बृहस्पति का पुष्य नक्षत्र में आने से यह समय अत्यंत प्रभावशाली माना जाता है।

पुष्य नक्षत्र का संयोग जिस वार के साथ होता है, उसे उसी वार के नाम से जाना जाता है। इनमें से सबसे अधिक शुभ रवि पुष्य, शनि पुष्य और गुरु पुष्य नक्षत्र को माना जाता है। मई के अंत में गुरु पुष्य योग का संयोग भी बन रहा है। आइए जानते हैं गुरु पुष्य योग की डेट, किन चीजों की खरीदारी करें।

पुष्य नक्षत्र महत्व (पुष्य नक्षत्र महत्व)

पौराणिक ग्रंथों में पुष्य नक्षत्र का अर्थ है पोषण करने वाला और ऊर्जा, शक्ति प्रदान करने वाला बताया गया है। पुष्य नक्षत्र में किए गए शुभ कार्य, नई चीजों की खरीदारी लंबे समय तक लाभ पहुंचाती है।

गुरु पुष्य नक्षत्र 2023 तिथि (Guru Pushya Nakshatra 2023 Date)

पुष्य नक्षत्र का शुभ योग हर महीने में बनता है। 25 मई 2023, गुरुवार को पुष्य नक्षत्र का संयोग बन रहा है। इस दिन गुरुवार होने से ये गुरु पुष्य योग कहालाएगा। गुरु पुष्य नक्षत्र की शुरुआत 24 मई 2023 को दोपहर 03 बजकर 06 मिनट पर प्रारंभ होगी और इसकी समाप्ति 25 मई 2023 को शाम 05 बजकर 54 मिनट पर होगी। गुरुवार के पूरे दिन पुष्य योग रहने से इस दिन खरीदारी करना शुभफलदायी होगा।

पुष्य नक्षत्र में खरीदारी के साथ कर सकते हैं ये शुभ कार्य (Pushya Nakshatra Shopping)

  • पुष्य नक्षत्र पर बृहस्पति (गुरु), शनि और चंद्र का प्रभाव होता है इसलिए इस दिन सोना, चांदी, पीतल, वाहन, भूमि, भवन, बही खाता, दर्शनीय विचार खरीदना और बड़े निवेश करना अत्यंत शुभ माने जाते हैं। इससे मां लक्ष्मी की कृपाती है और कही गई वस्तु में दो कारण बदलते हैं।
  • अगर आप किसी काम की शुरुआत करना चाहते हैं या भवन आदि का निर्माण करना चाहते हैं तो पुष्य नक्षत्र का दिन बहुत शुभ है। इसके अलावा स्कीम, म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार आदि में भी धन का निवेश कर सकते हैं।
  • अगर आप सोना या विलुप्त वस्तु नहीं खरीद सकते हैं तो गुरु पुष्य योग में या घर के मंदिर में दक्षिणावर्ती शंख स्थापित करें। इससे हर कार्य सिद्ध होते हैं और धन लाभ मिलता है।

शनि वक्री 2023: इन 5 राशियों के बंद होने से किस्मत का खुला ताला, सोने की तरह चमक उठेगी किस्मत

अस्वीकरण: यहां बताई गई जानकारी सिर्फ संदेशों और सूचनाओं पर आधारित है। यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी विशेषज्ञ की जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित सलाह लें।



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here