अतिरिक्त सेब खाने के साइड इफेक्ट से पराग एलर्जी हो सकती है

0
69
अतिरिक्त सेब खाने के साइड इफेक्ट से पराग एलर्जी हो सकती है
Spread the love


पराग से एलर्जी: सेब (Apple) को पर्यावरण के लिए लाभ कहा जाता है। इसे लेकर कहावत भी है कि एक सेब रोज खाने से डॉक्टर दूर रहता है क्योंकि इसके सेवन से शरीर स्वस्थ रहता है और कई बीमारियां शरीर से दूर रहती हैं। सेब के सेवन से दिल का स्वास्थ्य बेहतर होता है और इससे खाने से दाद और कैंसर जैसी बीमारियां भी दूर रहती हैं। इसके खाने से शरीर को काफी फायदा होता है लेकिन सेब के फायदों के साथ खाने के कुछ नुकसान भी होते हैं। वैसे तो सेब का सेवन सेहत के लिए अच्छा है लेकिन इसके ज्यादा सेवन से या फिर किसी खास स्थिति में सेब का सेवन एलर्जी का कारण बन सकता है। यह जान लें कि सेब खाने से किस तरह की एलर्जी (पराग एलर्जी) हो सकती है।

सेब के सेवन से पोलेन एलर्जी हो सकती है

कुछ लोगों को सावन से एलर्जी होती है और कुछ लोग सावन के पराग के संपर्क में आने से ही बीमार हो जाते हैं। इसे पराग वाइ पोलेन एलर्जी कहते हैं। सेब के ज्यादा सेवन से यही एलर्जी लोगों को परेशान कर देती है। पोलेन एलर्जी का मुख्य कारण कुछ खास सावन का परागण होता है जिससे संपर्क में आने से ही मनुष्य बीमार हो जाता है। सेब भी इन छुट्टियों में से एक हैं। पोलेन एलर्जी में मुंह और चेहरा सूज जाता है। इसके कई सारे लक्षण हैं जो सेब के ज्यादा सेवन से एक दो घंटे बाद शरीर पर दिखना शुरू हो जाते हैं।

पोलेन एलर्जी के लक्षण

पोलेन एलर्जी में हे फेवर हो जाता है। ये फीवर किसी तरह की एलर्जी से होता है और इसमें आंख नाक से पानी बहना शुरू हो जाता है और आंख में खुजली होने लगती है। इसके अलावा अन्य लक्षण इस प्रकार हैं। मुंह का सामान्य हिस्सा, जैसे होठों के साथ, जीभ और गले में सूजन आ जाती है। कुछ नीचा दिखाने में परेशानी होने लगती है। इसका साथ में चेहरा भी सूज जाता है। किसी भी व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी होना भी इसका एक लक्षण है। पेट में दर्द, अपच, ऐंठन, दस्त आदि की समस्या होने लगती है। चेहरे के साथ शरीर के अन्य अंगों में भी खुजली होने लगती है और दाने निकल सकते हैं। ऐसे में किसी व्यक्ति को चक्कर की भी शिकायत होने लगती है। इसके साथ एलर्जी का ज्यादा असर होने पर ब्लड प्रेशर कम हो जाता है और मरीज बेहोश हो सकता है।

यह भी पढ़ें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here