नेत्र स्वास्थ्य गर्मी की गर्मी आपकी आंखों को कैसे नुकसान पहुंचा सकती है, इसके लिए विशेषज्ञ टिप्स साझा करते हैं

[ad_1]

उत्तर भारत में गर्मी को खराब बनाकर रखा गया है। खासकर राजस्थान के बाड़मेर-जैसलमेर जिले में जिस तरह की भीषण गर्मी पड़ रही है वह कई सालों के रिकॉर्ड तोड़ सकती है। सूरज की तपिश की वजह से लोगों को त्वचा से लेकर आंखों से जुड़ी बीमारी हो सकती है। आपको जानकारी हैरानी होगी कि बारमेर में बालू का तूफान और तेज धूप के कारण आंखों में होने वाली गंभीर बीमारी का खतरा दिन पर दिन बढ़ रहा है। आंखों से जुड़ी इस बीमारी का खतरा लोगों में तेजी से बढ़ रहा है।

भीषण गर्मी के कारण लोगों के बीच यह बीमारी फैल रही है

गर्मी के दिनों में आंखों में जलन, चुभन, लाल होना, दर्द करना आम समस्या है। लेकिन इन दिनों गर्मी में लोगों की त्वचा रूखी होने के साथ-साथ आंखों में भी सूखापन आ जाता है। जिसके कारण आंखों में इंफेक्शन होने का पता चलता है। इसलिए अक्सर डॉक्टर कहते हैं कि आंखों की सफाई के साथ इसकी देखभाल की जरूरत है। राजस्थान के बाडमेर और जैसलमेर में तेरेजियम के कई केसे सामने आए हैं। इसे आँख का नथूना भी कहते हैं। डॉक्टर चोटें हैं कि भीषण गर्मी के कारण यह बीमारी के बीच पीड़ित हैं।

घर से बाहर निकलने से पहले आंखों को सुरक्षित करके ही जायें

बाड़मेर के सीनियर आइज स्पेशलिस्ट डॉक्टर शक्ति राजगुरु के मुताबिक टेरेजियम के लक्षण कुछ इस तरह के होते हैं जैसे- आंखें लाल होना, झपकना, जलन होना, आंखों में खुजली होना। अगर समय रहते इसे रोका नहीं गया तो परिणाम और भी खतरनाक हो सकते हैं। आंखों को सूरज की तेज किरणें जैसे- अल्ट्रावायलेट (परबैंगनी) किरणें, धूल, हवा और आंखों पर रोशनी की तेज किरणें पड़ती हैं। भीषण गर्मी के बीच जब भी घर से बाहर निकलते हैं तो आंखें प्रोटेक्ट करके ही बाहर निकलती हैं।

आंखों में हो रही है ये बीमारी

डॉक्टर शक्ति राजगुरु के मुताबिक अगर आपको आंख में किसी तरह की परेशानी हो रही है तो वो टेरीजियम बीमारी के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं। इसलिए शुरुआत में ही बचाव करना चाहिए। सूर्य की चमक से बचने के लिए हमेशा चश्मा जैसे ही बाहर निकलते हैं। कैप या जमा राशि का उपयोग हमेशा करें। कार चलाने का समय देखें। धूल और मिट्टी से आंखों को हमेशा बचाएं। आंख से जुड़ी समस्या को कभी भी न देखें और आंख के डॉक्टर को तुरंत दिखाएं।

ये भी पढ़ें: घंटा Instagram रील्स देखने का है चस्का? तो संभल जाओ वरना ये मानसिक बीमारी नहीं देंगे

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

Umesh Solanki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *