लोकसभा चुनाव 2024 भाजपा नई योजना मतदाताओं के लिए सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर टीम की बैठक एएनएन

[ad_1]

भाजपा महासंपर्क अभियान: 2024 के विधानसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2024) को लेकर बीजेपी जोर-शोर से जुटी है. 30 मई से भाजपा का महासंपर्क अभियान शुरू होना है। एक तरफ जहां बीजेपी के सांसद, विधायक और मंत्री इस चिलचिलाती गर्मी में जमीन पर चढ़े जनता के बीच सरकार के कामकाज को दबाते हैं, वहीं दूसरी तरफ दुनिया में भी पार्टी अपनी तैयारी पूरी कर लेती है। पार्टी अपने साइबर वॉरियर्स के जरिए भी मिशन 80 गोल को पूरा करने की तैयारी कर रही है।

बीजेपी ने 29 मई को अपने साइबर वॉरियर्स की मीटिंग बुलाई है। पार्टी के सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर की एक बैठक लखनऊ में बुलाई गई है, जो इंदिरा गांधी की प्रतिष्ठा में होगी। इस बैठक में पृष्ठ योगी आदित्यनाथ और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी भी शामिल हो सकते हैं। बीजेपी 2024 के 16 अक्टूबर को होने वाले चुनाव को लेकर सोशल मीडिया पर भी अपनी तैयारी कर रहा है।

बीबीसी ने यूपी मिशन 80 के लक्ष्य की रूपरेखा बनाई है

बात चाहे 2014 का लोकसभा चुनाव, 2017 का यूपी विधानसभा चुनाव, 2019 का लोकसभा चुनाव या फिर 2022 का यूपी विधानसभा चुनाव हो, हर चुनाव में बीजेपी की सोशल मीडिया टीम ने पार्टी के संदेश को वोटर तक बनाया। बीजेपी को भी हर चुनाव में फायदा हुआ, इसलिए 2024 में जब पार्टी ने मिशन 80 का लक्ष्य रखा तो अपने सोशल मीडिया के वॉरियर्स को भी तैयार कर रही है।

सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर को लेकर बीजेपी की ये तैयारी है

आज के चुनाव में सोशल मीडिया की स्थिति ने आपके पक्ष में माहौल बनाने की भाजपा की तैयारी की है। पार्टी के 98 डायरेक्टोरियल हैं। सभी सीसीटीवी में सोशल मीडिया के जिला आयुक्त और सह आयुक्त हैं। इन काम पार्टी के पक्ष में सोशल मीडिया पर माहौल बना रहा है, लेकिन यह जो सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर की मीटिंग बुलाई गई है, इसमें उन लोगों को बुलाया गया है जो पार्टी के कार्यकर्ता या भागीदार नहीं हैं, बल्कि वह सोशल मीडिया पर लोगों को प्रभावित करते हैं यानी उनके पोस्ट को लोग ज्यादा पसंद करते हैं।

हर जिले से बुलाए जा रहे हैं 6 से 7 इन्फ्लुएंसर

ऐसे में कई बार यह इन्फ्लूएंसर अगर बीजेपी के पक्ष में भी कुछ लिखता है तो उसका लाभ मिलता है। अगर बीजेपी के खिलाफ कुछ लिखा है तो पार्टी को कहीं न कहीं नुकसान हो सकता है. शायद इसीलिए अब बीजेपी ने ऐसे इन्फ्लुएंसर को इस मीटिंग में बुलाया है, जिससे वह अपनी बात उन तक पहुंचा सके और वह पार्टी की बात 2024 के चुनाव में आम लोगों तक पहुंचाए। इसके लिए हर एक फाइल से 6 से 7 ऐसे सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर को बुलाया जा रहा है। इससे मिलने वाले करीब 600 लोग शामिल हुए हैं।

सोशल मीडिया की भूमिका काफी महत्वपूर्ण

इन्फ्लुएंसर में कोई समुदाय से डॉक्टर है, कोई वकील नहीं है और कोई भी सदस्य सदस्य नहीं है, लेकिन पहचान यह है कि किसे ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम को ज्यादा लोग फॉलो करते हैं। पार्टी को लग रहा है कि अगर यह बीजेपी की बात को आगे बढ़ा तो उसका फायदा पार्टी को मिलेगा। पार्टी के प्रवक्ता कह रहे हैं कि बीजेपी चुनाव में हर तरह से तैयारी करती है और आज के समय में सोशल मीडिया की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है।

2019 के विधानसभा चुनाव में भी फेसबुक पेज दिया गया था

2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी ने 403 विधानसभाओं में अपना वाट्सऐप ग्रुप बनाया था। इससे पहले 2019 के एक दशक के चुनाव में भी हर एक हफ्ते में बीजेपी हर एक हफ्ते में अलग-अलग फेसबुक पेज और वाट्सएप पर ग्रुप बनाए थे। अब पार्टी की तैयारी कुछ इसी तरह की 2024 के लिए भी है। 29 मई को जहां सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर की बैठक होगी। वहीं भाजपा के महासंपर्क अभियान के दौरान भी पार्टी के सोशल मीडिया विभाग के दौरान सभी 80 मिनट में यह इन्फ्लुएंसर भाजपा की तैयारी 2024 के लिए एक्चुअल वर्ल्ड के साथ-साथ वर्चुअल वर्ल्ड में भी वॉलिंटियर्स के चमत्कार परचम चलने की बात करता है।

ये भी पढ़ें- यूपी पॉलिटिक्स: केशव प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव और स्वामी प्रसाद मौर्य के लिए कही ऐसी बात, सपा समर्थक हो जाएंगे नाराज

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *