क्या चाय पीने से आपका रंग काला हो जाता है, जानिए सच्चाई

0
48
Spread the love


चाय के बारे में तथ्य: भारतीय लोगों की पसंदीदा आकर्षित अगर कुछ है तो वो चाय है। यही वजह है कि भारत में पानी के बाद चाय सबसे ज्यादा पी जाने वाली है। अक्सर लोगों की सुबह चाय की घुंट से ही शुरू होती है। खुशी गम हर जगह पर चाय जरूरी है। हालांकि कुछ गिने फिर लोग सिर्फ इसलिए चाय पीने से कतराते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि चाय पीने से उनका रंग सांवला हो जाएगा। क्या सच में चाय पीने से रंग सांवला होता है या फिर ये बजने से चलने वाली एक अफवाह है। इसके बारे में विस्तार से आगे के लेख में जानेंगे।

क्या चाय पीने से रंग काला पड़ जाता है

ये हम सब जानते हैं कि दूध वाली जो चाय होती है उसे फायदा होता है तो नहीं पहुंचती है लेकिन सीधी-सीधे ये कह रही है कि चाय पीने से त्वचा का रंग सांवला हो सकता है तो ये ठीक गलत होगा। ये बातें बचपन में बड़े बुजुर्ग छोटे बच्चों को डराने के लिए कहते थे। ऐसा इसलिए कहा गया था कि इसमें कैफीन की मात्रा क्यों होती है जो कि बच्चों के लिए सही नहीं है।

अभी भी कुछ बच्चों को चाय पीने से रोकने के लिए ये घर कई घरों में इस्तेमाल किया जाता है, जिसे कुछ लोगों ने सच मान लिया है और धीरे-धीरे ये अफवाह के रूप में दिखने लगा है। ठोस के अनुसार चाय पीने से त्वचा का रंग काला हो सकता है इसे अभी लेकर तक कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं मिला है। मानदंड का मानना ​​है कि आपकी त्वचा का रंग आपके भोजन-पीने की जीवनशैली और मेलेनिन पर पूरा निर्भर करता है।

चाय के फायदे

वहीं काली टी, ग्रीन टी और येलो टी जैसे हर्बल चाय पीने से आपको इसके बहुत सारे फायदे भी मिलते हैं। इससे शरीर से टॉक्सिन दूर होते हैं और आपको कई बीमारियों से सुरक्षा मिलती है।चाय में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। एंटीऑक्सीडेंट हमारे शरीर में फ्री रेडिकल्स का असर कम करता है।

ये खतरनाक हो सकते हैं

हालांकि हर्बल चाय को छोड़कर अगर आप दूध वाली चाय पीते हैं तो इससे आपको कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। जैसे पाचन तंत्र को नुकसान पहुंच सकता है। एसिडिटी और कब्ज की शिकायत हो सकती है। वहीं अगर आप चाय में बहुत ज्यादा शुगर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इससे आपको खिलने का खतरा रहता है।

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here