Home Feature हरिद्वार में गंगा में पदक विसर्जित करने वाले पहलवानों पर अरविंद केजरीवाल की प्रतिक्रिया | दिल्ली समाचार: गंगा नदी में मेडल मंडल के सदस्य पहुंचे, सीएम केजरीवाल बोले

हरिद्वार में गंगा में पदक विसर्जित करने वाले पहलवानों पर अरविंद केजरीवाल की प्रतिक्रिया | दिल्ली समाचार: गंगा नदी में मेडल मंडल के सदस्य पहुंचे, सीएम केजरीवाल बोले

0

[ad_1]

दिल्ली समाचार: बहनों के प्रदर्शन के मुद्दे पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजीवाल ने कहा कि पूरे देश की आंखों में आंसू हैं। दरअसल, साक्षी मलिक और विनेश फोगाट गंगा में अपना मेडल मंडल पहुंचे। इस बीच में स्प्रेडशीट ने ट्वीट करते हुए कहा कि अब तो प्रधानमंत्री को अपना अहंकार छोड़ देना चाहिए। बता दें कि पहलवान 23 अप्रैल से जंतर-मंतर पर भारतीय कुश्ती महासंघ के प्रमुख और बीजेपी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

दिल्ली के सीएम ने ट्वीट किया, “पूरा देश स्तब्ध है। पूरे देश की आंखों में आंसू हैं। अब तो प्रधान मंत्री जी को अपना अहंकार छोड़ देना चाहिए।” इससे पहले रियो ओलंपिक 2016 के कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक बयान में कहा था कि स्टार मंगलवार की शाम छह बजे पदकों को पवित्र नदी में पवित्र नदी के लिए सीधे बांधेंगे। साक्षी ने अपने बयानों में कहा था, ”पदक हमारी जान हैं, हमारी आत्मा हैं.” हम इनके गंगा में गोब जा रहे हैं क्योंकि वह गंगा मां हैं। इन गंगा में बहने के बाद हमारे जीने का कोई मतलब नहीं रहेगा इसलिए हम इंडिया गेट पर आमरण अनशन पर बैठ जाएं।”

पंजाब के सीएम ने भी ट्वीट किया
वहीं पंजाब के सीएम भगवंत मान ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा, “हमारे देश के अंतराष्ट्रीय पदक विजेता पहलवानों द्वारा केंद्र सरकार से दुखी होकर अपने पदकों को दूसरी गंगा में पांव जा रहे देश के लिए बहुत बयान किया है..अगर समय रहते नहीं उठाई गई तो अगली बारी देश के लोकतंत्र में लोकतंत्र के अस्तियों को पाखंड की होगी.”

बता दें कि दिल्ली के सीएम पहलवानों का समर्थन करने के लिए तर जं-मंतर भी पहुंचे थे। यहां तक ​​पहुंचने पर वे प्रदर्शन करने वाले पहलवानों से मिलने गए थे और कहा था कि इन्हें न्याय आहार दिया जाना चाहिए। सरकार को उनकी मांग मान लेनी चाहिए।

केंद्र अध्यादेश दिल्ली: आप को समर्थन देने के मुद्दों पर दिल्ली कांग्रेस का रूख साफ नहीं, आलाकमान पर छोड़ो फैसला

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here