थूक के थूक में खून आना सेहत के लिए है खतरनाक, हो सकते हैं इन बीमारियों के संकेत

0
55
Spread the love


थूक में खून क्यों आता है: जब शरीर में किसी बीमारी की शुरुआत होने लगती है तब कुछ दिखाई देते हैं, जिनपर ध्यान देना बहुत जरूरी है। कई बार लोग इन लक्षणों को लेकर आम समझ की गलती कर बैठते हैं, जिसकी वजह से शरीर में बीमारी का विस्तार हो जाता है। बीमारियों से दूर रहने के लिए यह जरूरी है कि आप शरीर में दिखने वाले लक्षणों की सही तरीके से पहचान करें। कुछ लोगों में ठिकाने में खून आने की समस्या देखी जाती है। अधिकतर लोग इस बात से वाकिफ नहीं हैं कि ठिकाने में खून बहने वाले किन-किन संकेतों का संकेत हो सकता है। आज हम आपको इसी के बारे में जानकारी देंगे।

ठिकाने में क्यों आता है खून?

1. जिंजिवाइटिस: जिंजिवाइटिस एक ऐसी बीमारी है, जिसमें मसूड़ों में सूजन और खून आने की समस्या होती है। कई बार यह बीमारी आप ठीक हो जाती है। हालांकि कई बार ये संचार उपचार मांगते हैं। जिंजिवाइटिस में मसूड़ों में सूजन आ जाती है और कई बार खून भी शुरू हो जाता है, जो ठिकाने के साथ मिलकर ठिकाने के रंग को लाल कर सकता है। अगर आप कभी-भी इस स्थिति का सामना करें तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

2. ब्रोंकाइटिस : फेफड़े में हवा ले जाने वाली नलिका को श्वासनली कहा जाता है। श्वासनली में जलन, सूजन और संक्रमण की परेशानी को ही ब्रोंकाइटिस कहा जाता है। इस बीमारी में ज्यादा सूजन होने की वजह से घबराहट भी ज्यादा बनती है और इसमें कई बार खून आने लगता है। जब ज्यादा घिसा जाता है तो कई बार नलियों में रुकावट भी पैदा हो जाती है। वैसे तो ब्रोंकाइटिस आप ठीक हो जाते हैं। हालांकि अलग भी यह समस्या ज्यादा दिनों तक रह जाए तो डॉक्टर का रूख करने में देरी नहीं करनी चाहिए।

3. निमोनिया: निमोनिया एक बीमारी है जो फेफड़ों को प्रभावित करती है। यह बीमारी बैक्टीरिया, फंगी, वायरस की वजह से होती है। इसकी वजह से फेफड़ों में सूजन की परेशानी पैदा हो जाती है। कई बार फ्लूड या पस भर जाता है, जिसकी वजह से सांस लेना मुश्किल हो जाता है। कई बार इस बीमारी में आंखों से खून आने की परेशानी भी होती है।

4. ट्यूबरक्लोसिस या टीबी: ट्यूबरक्लोसिस भी एक गंभीर संक्रामक बीमारी है, जो माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस नामक बैक्टीरिया के कारण होती है। यह फेफड़ों पर हमला करता है। इस बीमारी के लक्षण में ठिकाने से खून आना भी शामिल हैं।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें: क्या आप रोटी और चावल के एक साथ फायदे हैं? पहले जानकार से जान बूझकर ऐसा करना कितना सही है?

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here