होम्योपैथिक दवाएं देर से असर दिखाती हैं, गंभीर बीमारियों में कितनी कारगर हैं ये दवाएं

0
54
Spread the love


होम्योपैथिक दवाएं: अलग-अलग बीमारियों के इलाज के मामले में होमियोपैथी चिकित्सा पद्धति भी किसी के पीछे नहीं है। आज भी लोग इस चिकित्सा पद्धति पर पूरी तरह से भरोसा करते हैं। हालांकि एक बात को लेकर वो बार-बार परेशान रहते हैं कि होमियोपैथी दिवानी बहुत देर से काम करना शुरू करती हैं यानी ये दिवाईयां किसी बीमारी को ठीक करने में बहुत ज्यादा वक्त लगाती हैं। मगर क्या लोगों का यह दावा सच है? क्या वास्तव में होमियोपैथी दिवाइयां अपना प्रभाव महीनों या वर्षों में दिखाती हैं? आइए जानते हैं जानकारों से…

एक न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक जानकार का कहना है कि लोग किसी होमियोपैथी दवा को लेते हुए वक्त के बारे में सोचते हैं कि ये कितना समय में असर दिखाना शुरू करते हैं, जबकि उन्हें इस बारे में पोस्ट करना चाहिए कि इस दवा के शरीर पर कैसा असर पड़ता है प्रभाव महसूस करें। जानकार कहते हैं कि अगर किसी बीमारी के लक्षण की पहचान ठीक तरह से कर ली जाए और उसी के अनुसार दवाई दी जाए तो होमियोपैथी उपचार तेजी से शुरू हो सकता है यानी ठीक होने की प्रक्रिया जल्दी शुरू हो जाती है।

छोटी-मोटी परेशानी में जल्दी से आईना असर करता है

वैज्ञानिक के अनुसार, छोटी-मोटी शारीरिक तकलीफों के मामले में होम्यपैथी दिवाइयां तेजी से असर दिखाना शुरू करती हैं। जबकि किसी गंभीर और खतरनाक बीमारी में यह दवाई बहुत धीमी गति से काम करती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गंभीर बीमारी पैदा होने में खिंचाव दिखना शुरू हो जाता है तो धीरे-धीरे अपना विस्तार करती जाती हैं।

कई बार तो ये स्थिति इतनी जटिल हो जाती है कि मरीज को बचाना मुश्किल हो जाता है। हमारा शरीर किसी भी बीमारी से पहले खूब लड़ने की कोशिश करता है, लेकिन जब बीमारी की पकड़ मजबूत होती है तो ऐसे में दवाई भी बहुत धीमी गति से असर करती हैं। ऐसे में किसी भी बीमारी को जड़ से खत्म करना काफी मुश्किल हो जाता है।

बीमारी को जड़ से खत्म करने का काम करता है

गंभीर बीमारियों के मामले में होम्योपैथिक दवाएं बहुत धीमी गति से आपका प्रभाव नजरअंदाज करती हैं। हालांकि छोटी-मोटी परेशानी में यह दवा जल्दी असर करती है। होम्योपैथिक दवाएं जल्दी दिखने के बजाय धीमी गति से बीमारी को जड़ से खत्म करने का काम करती हैं। यही कारण है कि यह लंबे समय के बाद नजर आता है।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें: क्या आप रोटी और चावल के एक साथ फायदे हैं? पहले जानकार से जान बूझकर ऐसा करना कितना सही है?

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here