Home Lifestyle क्या सनस्क्रीन स्क्वैमस सेल और मेलेनोमा स्किन कैंसर के खतरे को कम करता है?

क्या सनस्क्रीन स्क्वैमस सेल और मेलेनोमा स्किन कैंसर के खतरे को कम करता है?

0

[ad_1]

हमारा स्किन केयर रूटीन का सबसे बड़ा हिस्सा है हमारा सनस्क्रीन लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बार-बार सनस्क्रीन लगाने से भी नुकसान पहुंच सकता है। जैसा कि आपको पता चलता है कि सूरज खतरनाक खतरों से बचने के लिए लोग सनस्क्रीन उम्मीदवार हैं लेकिन यह सनस्क्रीन त्वचा कैंसर को जन्म दे सकता है।

त्वचा विशेषज्ञ के अनुसार त्वचा कैंसर के कई कारण हो सकते हैं लेकिन खराब जीवनशैली से आपकी त्वचा का कैंसर निश्चित रूप से जन्म ले सकता है। जो लोग काफी देर तक धूप में रहते हैं उनकी त्वचा को धूप से कई तरह के नुकसान होते हैं। इनका उत्परिवर्तन भी होता है जिससे त्वचा के कैंसर का खतरा होता है।

धूप से बचने के लिए उम्मीदवार सनस्क्रीन तो रूक पर जाएं

जिन लोगों की फैमिली में स्किन कैंसर पहले भी हो जाता है उन्हें स्किन कैंसर होने का खतरा काफी ज्यादा रहता है। त्वचा पर होने वाले तिल, तिल, मस्से, बढ़ती उम्र के साथ त्वचा से जुड़ी परेशानियों का खतरा बढ़ जाता है। कुछ लोगों की आदत होती है कि वह ज़्यादा-ज्यादा सनस्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं जिससे उन्हें स्किन कैंसर होने का खतरा होता है। तो आप जब भी सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें तो मात्रा का खास ध्यान रखें।

त्वचा एलर्जी के कारण

सनस्क्रीन क्रीम में भी कई तरह के कैमिकल्स मिलाए जाते हैं इसलिए ज्यादा बार अपनी त्वचा पर इस्तेमाल करने से नुकसान होगा। साथ ही इन केमिकल्स की वजह से स्किन से जुड़ी बीमारियां भी शुरू हो सकती हैं।

स्किन रैशेज

सूजन

एक्जिमा

स्किन बम्प्स

एलर्जी और स्किन इंफेक्शन

पिंपल्स की समस्या बढ़ सकती है
त्वचा की तेल ग्रंथियों में अधिक मात्रा में सीबम बनने से जो पिंपल्स और एक्ने का कारण बन सकते हैं।

ब्लड में मिल केमिकल्स हो सकते हैं

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलोजी इनफार्मेशन (NCBI) की एक रिसर्च के मुताबिक सनस्क्रीन में पाए जाने वाले केमिकल्स स्किन को डैमेज कर सकते हैं। इसके साथ ही केमिकल्स खून में घुल सकते हैं। इससे कैंसर सहित और भी त्वचा से जुड़ी दूसरी तरह की गंभीर बीमारी हो सकती है।

ये भी पढ़ें: शरीर पर दिखने वाले मामूली सा तिल हो सकते हैं स्किन कैंसर, इन लक्षणों की पहचान

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here