With PM Bhagwan: पीएम भगवान के साथ बैठें तो समझाना शुरू कर देंगे कि ब्रह्मांड कैसे काम करता है: राहुल गांधी

0
178
Spread the love

अमेरिका में कैलिफोर्निया में प्रवासी भारतीयों की एक सभा में कांग्रेस नेता राहुल गांधी. (फोटो साभार: फेसबुक)

अमेरिका में कैलिफोर्निया के सांता क्लारा में प्रवासी भारतीयों की एक सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि भारत में ऐसे लोगों का समूह है, जिन्हें पूरा यकीन है कि वे सब कुछ जानते हैं और निश्चित रूप से हमारे प्रधानमंत्री ऐसे ही एक व्यक्ति हैं.

नई दिल्ली: अमेरिका गए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि अगर आप प्रधानमंत्री को भगवान के बगल में बैठा दें तो वह भगवान को समझाना शुरू कर देंगे कि ब्रह्मांड कैसे काम करता है.

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा, ‘हम देख रहे हैं कि सामान्य उपकरण जो हम राजनीति के लिए इस्तेमाल करते थे, जैसे कि इस तरह की बातचीत, सार्वजनिक बैठकें, अब काम नहीं कर रही हैं. भारत में राजनीति करने के लिए हमें जितने भी उपकरणों की जरूरत थी, उन पर बीजेपी और आरएसएस का नियंत्रण हो गया है.’

भारत में राजनीतिक परिदृश्य के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि भारत में लोगों को धमकाया जाता है और उन पर (जांच) एजेंसियों का इस्तेमाल किया जाता है.

अमेरिका में कैलिफोर्निया में प्रवासी भारतीयों की एक सभा में कांग्रेस नेता राहुल गांधी. (फोटो साभार: फेसबुक)

उन्होंने कहा, ‘हम यह भी देख रहे थे कि किसी तरह राजनीतिक रूप से कार्य करना कठिन हो गया है और इसलिए हमने भारत के सबसे दक्षिणी सिरे से श्रीनगर तक चलने (भारत जोड़ो यात्रा) का फैसला किया.

’राहुल गांधी ने यह भी कहा कि भारत जोड़ो यात्रा देश के भौगोलिक क्षेत्र को जोड़ने के बारे में नहीं है, ‘भारत जोड़ो यात्रा आपके दिलों में है.’

उन्होंने रेखांकित किया कि भारत जोड़ो सभी धर्मों का सम्मान करने और शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व के बारे में है. उन्होंने कहा कि भारत के सभी महान नेताओं ने हमेशा इस बात पर जोर दिया है कि किसी को भी इस धारणा के प्रभाव में नहीं रहना चाहिए कि वह सब कुछ जानता है.

उन्होंने कहा, ‘गुरु नानक, बसवाना जी, गांधी जी जैसे नेताओं ने इस धारणा के तहत नहीं आने का जोर दिया था कि आप सब कुछ जानते हैं. किसी भी व्यक्ति के लिए यह दुनिया इतनी बड़ी और जटिल है कि वह यह सोचे कि वह सब कुछ समझता और जानता है. यह एक बीमारी है. भारत में ऐसे लोगों का समूह है, जो इस बात को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि वे सब कुछ जानते हैं.’

घटना से जुड़े एक वीडियो में उन्होंने व्यंग्य करते हुए कहा, ‘वास्तव में, मुझे लगता है कि हो सकता है कि वे सोचते हों कि वे भगवान से भी अधिक जानते हैं. वे भगवान के साथ बैठकर बातचीत कर सकते हैं और उन्हें समझा सकते हैं कि चल क्या रहा है. और निश्चित रूप से हमारे प्रधानमंत्री ऐसे ही एक व्यक्ति हैं.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि अगर आप मोदी और भगवान के साथ बैठें तो मोदीजी भगवान को समझाने लगेंगे कि ब्रह्मांड कैसे काम करता है. (हंसते हुए) और भगवान कन्फ्यूज हो सकते हैं कि ये मैंने क्या बना दिया है. ये हंसने वाली बात है, लेकिन ऐसा ही हो रहा है.’

राहुल ने कहा, ‘हमारे पास ऐसे लोग हैं, जिन्हें लगता है कि वे सब कुछ जानते हैं. वे वैज्ञानिकों से बात कर सकते हैं और उन्हें विज्ञान के बारे में समझा सकते हैं. वे इतिहासकारों को इतिहास समझा सकते हैं. वे युद्ध के संबंध में सेना और वायुसेना को उड़ान के बारे बता सकते हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘और इसमें मूल बात ये है कि वास्तव में वे कुछ भी नहीं समझते हैं, क्योंकि अगर आप सुनने को तैयार नहीं तो जिंदगी में आप कुछ भी नहीं समझ सकते हैं. भारत जोड़ो यात्रा से एक बड़ी सीख मैंने हासिल की है कि हर किसी से कुछ न कुछ सीखा जा सकता है.’

Khan Javed

Executive Editor https://daily-khabar.com/

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here