चेहरे पर मुल्तानी मिट्टी लगाने से हो सकते हैं ये नुकसान, ये लोग तो बिल्कुल ना खतरनाक

0
102
Spread the love



<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफ़ाई करें;"> मुल्तानी मिट्टी का लेप एक आम घरेलू हानिकारक है, जो हर किसी के चेहरे की दाल को हटाने के लिए, चेहरे पर आए कील-मुंहासें हटाने के लिए और बालों की रौनक बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करता है। जीव विज्ञान से यह प्राकृतिक त्वचा के लिए अत्यधिक जीव और सेफ द्वारा देखा जाता है। मुल्तानी मिट्टी को चेहरे पर लगाने से चेहरा ढक जाता है और मैला हो जाता है।

त्वचा की समस्या से निजात पाने के लिए मुल्तानी मिट्टी को बहुत ही खतरनाक माना जाता है। लेकिन कहते हैं ना कि किसी चीज का ज्यादा इस्तेमाल करना खतरा भी साबित हो सकता है, मुल्तानी मिट्टी के साथ भी कुछ ऐसा ही है। इस मिट्टी के ज्यादा इस्तेमाल से त्वचा को कुछ नुकसान का भी सामना करना पड़ सकता है। आइए मुल्तानी मिट्टी से होने वाले नुकसान के बारे में जानते हैं। 

क्या मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर लगाने से सच में नुकसान होता है?

मुल्तानी मिट्टी के इस्तेमाल से असरदार और सेफ होने के बावजूद भी कई बार त्वचा को फायदे के बजाय नुकसान पहुंचता है। मुल्तानी मिट्टी को गलत तरीके से लगाने से त्वचा से जुड़ी कई समस्याएं होने लगती हैं। मुल्तानी मिट्टी के कुछ ऐसे ही साइड इफेक्ट के बारे में जानते हैं।

1। सूखी त्वचा 

जिनकी त्वचा चिप चिपचिपी और तेली होती है, वो त्वचा को हेल्दी रखने के लिए मुल्तानी मिट्टी का लेप उम्मीदवार हैं। लेकिन मुल्तानी मिट्टी लगाने से पहले हमें मौसम और तापमान का ध्यान रखना चाहिए। बहुत ठंडी जगहों पर मुल्तानी मिट्टी को केवल पानी में टपकने से त्वचा की रूखापन बढ़ जाता है और जल्दी ही त्वचा बहुत रूखी हो जाती है। 

2। त्वचा में खिंचाव

जिन की त्वचा सूख जाती है उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि मुल्तानी मिट्टी के लेप के अंश में एलो वेरा, बादाम का तेल या शहद जैसे नैचुरल मॉश्चराइजर मिलने के लिए जाएं। क्योंकि सिर्फ मुल्तानी मिट्टी लगाने से त्वचा बहुत ज्यादा रूखी हो जाती है जिससे त्वचा में खिंचाव आ जाता है और त्वचा के समय से पहले बूढ़ी नजर आने लगती है। 

3. संवेदनशील त्वचा को नुकसान

जिन लोगों की त्वचा सेंसिटिव होती है, उन्हें मुल्तानी मिट्टी के इस्तेमाल से बचना चाहिए क्योंकि इसे लगाने से चेहरे पर दाने हो सकते हैं और रीचेज की भी समस्या होने की संभावना हो सकती है। इसलिए संवेदनशील त्वचा वाले लोग मुल्तानी मिट्टी के इस्तेमाल से बचें। 

 

इन स्किन टाइप के लोगों मुल्तानी मिट्टी के इस्तेमाल से बचें

1। किसी भी समय त्वचा बहुत संवेदनशील होती है, उन्हें मुल्तानी मिट्टी का उपयोग बहुत कम करना चाहिए। इसका अधिक इस्तेमाल चेहरे पर डलनेस और दाने ला सकता है।
2। ड्राई स्किन वालों को मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे स्किन बहुत रूखी हो जाती है और त्वचा बेजान नजर आने लगती है।
3. अगर आपको बार-बार सर्दी जुखाम या खांसी की शिकायत रहती है तो आपको मुल्तानी मिट्टी से दूरी बनानी चाहिए। मुल्तानी मिट्टी का प्रभाव गिरने से सर्दी-खांसी की समस्या बढ़ सकती है।
4. मुल्तानी मिट्टी के नियमित इस्तेमाल से चेहरे पर झुर्रियां हो सकती हैं। 

यह भी पढ़ें: चावल जैसा दिखने वाला ये खाद्य स्वास्थ्य के लिए बहुत सारे लाभ, कई दावे कर सकते हैं, इसके लाभ जानें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here