Home Lifestyle एचआईवी और एड्स के लक्षण क्या देखें

एचआईवी और एड्स के लक्षण क्या देखें

0

[ad_1]

शरीर के हिस्सों में कभी-कभी किंकियां या गिल्टी कई कारणों से होती हैं। कभी-कभी यह किंक थायरॉइड के कारण होता है तो यह कभी-कभी कैंसर का रूप ले लेता है। कई डॉक्टर्स का कहना है कि यह एड्स की पहली स्टेज भी हो सकता है। आइए जानते हैं। गर्दन और उसके आस-पास के एरिया में कई धब्बे मौजूद होते हैं। कई बातें तो वह इतने नॉर्मल होते हैं कि आपको लगता है कि आप पोटिंग नहीं कर रहे हैं। टॉन्सिल में भी गर्दन में गुलटी जैसा दर्द करने लगता है कि वह त्वचा के संक्रमन से लड़ती है। और इंफेक्शन कम होने के बाद सूजन कम हो जाती है। लेकिन आज हम बात करेंगे कि यह मामूली दिखने वाले किस्से एड्स की पहली अवस्था भी हो सकते हैं।

एड्स को समाप्त नहीं किया जा सकता है, लेकिन दवाई के माध्यम से इसे कंट्रोल करने की कोशिश की जाती है

एड्स (AIDS) जिसे एक्वायर्ड इम्युनोडेफिशिएंसी सिंड्रोम कहते हैं। ये सबसे ज्यादा खतरनाक बीमारी है। ये एचआईवी वायरस के कारण होता है। जिससे शरीर का इम्यूनो सिस्टम पर हमला होता है। कई मामलों में यह एक बड़ा कारण है एसटीआई यानी सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिज के कारण हो सकता है। इस बीमारी का अब तक इलाज तो निकल नहीं पाया है लेकिन इसे दवाई के जरिए कंट्रोल करने की कोशिश की जाती है। ऐसे में सबसे जरूरी चीज है कि आप समय रहते ही इसके लक्षणों को पहचानें।

एड्स के शुरूआती लक्षण

एड्स के शुरुआती लक्षण में 2-4 हफ्ते तक सर्दी-जुकाम या बुखार रहते हैं। इस बीमारी में वायरस आपके इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है। इसके अलावा शरीर में कई तरह के लक्षण दिखाई देते हैं।

गले में सूजन और गिल्टीयां

एचआईवी इंफेक्शन के बाद इम्यून सिस्टम पूरी तरह से विक हो जाता है। इससे आपके गले में सूजन-लंगड़ाहट और दर्द महसूस होता है। इससे सर्दी जुकाम का असर बढ़ता है।

तेजी से वजन कम होना

अचानक वजन कम होना एड्स की बीमारी के शुरुआती और गंभीर लक्षणों में से एक है। यह साफ है कि आपका इम्यून सिस्टम सही से काम नहीं कर रहा है। मेटाबोलिक प्रोटोकॉल में भी कई तरह की गड़बड़ी चल रही है। इस दौरान शरीर को नहीं लगता और तेजी से वजन कम होने लगता है।

त्वचा पर लाल चक्कतेदार दाने

त्वचा पर लाल दाने एड्स के शुरूआती लक्षण हो सकते हैं। यह आपकी त्वचा, मुंह, नाक और आंखों के अंदर हो सकते हैं। यह लाल चक्कते लाल, भूरे, गुलाबी या बैंगनी कई रंगों के हो सकते हैं।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें: Foods For Eyesight: उम्र में भी टिकी रहेगी आंखों की रोशनी… अभी से ही खाना बना कर दें ये चीजें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here