Home Lifestyle जामुन के बीज शुगर बीपी और लिवर समेत कई बीमारियों को दूर कर सकते हैं

जामुन के बीज शुगर बीपी और लिवर समेत कई बीमारियों को दूर कर सकते हैं

0

[ad_1]

जामुन के बीज के फायदे: गर्मियों में जंबीन खाने का अपना अलग मजा होता है। ये खाने में तो स्वादिष्ट होता है बल्कि पर्यावरण के लिए काफी फायदेमंद होता है। फेंक देते हैं। लेकिन आप इनकी जगह धूप में सुखाकर पीसकर पाउडर बना लें। इसके पाउडर का सेवन करने से आपको कई बीमारियों का फायदा मिल सकता है।आइए जानते हैं उन फायदों के बारे में

मीन –पर्यटकों के लिए जाम के साथ-साथ इसकी गुठली भी किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं है। अगर आप सेवन करते हैं तो इससे ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है। दरअसल इसमें जंबोलिन और जंबोसीन नाम के दो चमकदार तत्व होते हैं, जो ब्लड शुगर लेवल को धीमा कर देते हैं और शरीर में लाइकेन के मंत्र होते हैं। इसके अलावा इस फल का गलेजिमिक साईट भी काफी कम होता है जिस कारण से यह लिमियेटर्स के लिए काफी अधिक लाभ होता है।

इंफेक्शन से बचाव- जंबो की गुठली में एंटीमाइक्रोबॉयल और एंटी एलर्जी गुण होते हैं, जो वायरल इंफेक्शन को दूर करने में आपकी मदद कर सकते हैं। अगर आप वायरल इंफेक्शन से बचना चाहते हैं तो जूनून की गुठली से तैयार पाउडर का सेवन करें।


कैंसर जंब की गुठली में कई कैंसर रोधी गुण मौजूद होते हैं। इसकी गुठली में साइटोटॉक्सिक जमाव वाले कुछ यौगिक मौजूद होते हैं, वास्तव में इसका उपयोग फेफड़ों के कैंसर के उपचार में विशेष रूप से एंटी कैंसर एजेंट के रूप में किया जाता है।

बीपी- जंब की गुठली ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सक्षम हो सकता है। जानकारी के अनुसार जंब की गुठली में लेसिक एसिड होता है जो ब्लड प्रेशर को ठीक करने में विफल साबित होता है।

लीवर- जून के बीच में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण लीवर की ऊर्जा की रक्षा करते हैं। इसके अलावा एंटी इन्फ्लेमेटरी परिसर से होने के कारण ये लीवर की सूजन को कम करने में भी शामिल होते हैं।

पाचन शक्ति- जंब की गुठली के सेवन से पाचन शक्ति को बेहतर बनाया जा सकता है। क्‍योंकि इसकी गुठली में क्रूड फाइबर होता है। क्रूड फाइबर खाने से पाचन क्रिया बेहतर तरीके से काम करती है और मजबूत होती है।

डिटॉक्स-जून के बीजों में फ्लेवोनॉयड और फेनोलिक यौगिक जैसे शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर को मुक्त रेडिकल के नुकसान से बचाने में मदद करते हैं इसके अलावा यह शरीर को डिटॉक्स करने में भी मदद करते हैं।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़ें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here