यूकेएसएसएससी पेपर लीक उत्तराखंड एसटीएफ ने जांच में सहयोग नहीं करने वाले अभ्यर्थियों के खिलाफ मामला दर्ज किया

0
61
Spread the love


यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामला: उत्तराखंड में पेपर लीक (पेपर लीक) मामले को लेकर एसटीएफ (Uttarakhand STF) में लगातार कार्रवाई हो रही है. ऐसे में जल्द ही उत्तराखंड एसटीएफ ऐसे अभ्यार्थियों पर कड़ी कार्रवाई करने जा रही है, जिन्होंने जांच में एसटीएफ का सहयोग नहीं किया है। दरअसल, यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में एसटीएफ की जांच अभी पूरी नहीं हुई है, ऐसे में नकल करने वाले कई फैसलों के नाम सामने आ गए हैं।

पेपर लीक मामले में पूछताछ के लिए एसटीएफ ने इन सभी अभ्यार्थियों को बुलाया था, जिनमें से कई स्थिति एसटीएफ के बुलाने पर आपके बयान दर्ज किए गए, लेकिन अब भी करीब 40 ऐसे अभ्यार्थी हैं जो एसटीएफ के बुलाने पर भी नहीं आए हैं। ये अभ्यार्थी एसएफआई की जांच से बचने की कोशिश कर रहे हैं और जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। ऐसे में एसटैट इन अभ्यार्थियों को बख्शने के मूड में नहीं है और जल्द ही इन अभ्यार्थियों को इस मामले में स्थिति स्थिति मुकदमा दर्ज करने की तैयारी की जा रही है।

जांच में सहयोग न करने वालों पर कार्रवाई

एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने कहा कि यूकेएसएससी पेपर लीक लीक मामले के संबंध में कई परतें अपने बयान दर्ज करने के लिए एसटीएफ को बुलाने पर भी नहीं आती हैं। ऐसे में एसटीएफई की ओर से टीम को उनके घर पर जमा करने के लिए भेजा जाएगा। फिर भी जांच में अगर ये सहयोग नहीं करते हैं तो कार्रवाई की जाएगी। एजेश अग्रवाल ने ये भी कहा कि नकल में शामिल होने को लेकर नोटिस भी जारी किए गए थे, जिसके बाद भी कई ने अपने बयान दर्ज नहीं किए।

वहीं दूसरी तरफ इस मामले की तस्वीर पर भी लगातार सदृश कतियां जा रही हैं। मंगलवार की सुबह ईडी ने बिजनौर में पेपर लीक मामले के मुख्य मामले में सिंह के घर में निशान की और लोगों से पूछताछ की। इस दौरान ईडी की टीम ने दुर्घटना की पत्नी के अकाउंट की भी जांच की है।

ये भी पढ़ें- Wrestler Protest: बृजभूषण शरण सिंह के परिवार कोई नहीं लड़ेगा WFI का चुनाव, जुलाई में होगा चुनाव



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here