Home Lifestyle सुबह उठने के बाद छींकने की समस्या का कारण जानिए यहाँ

सुबह उठने के बाद छींकने की समस्या का कारण जानिए यहाँ

0

[ad_1]

सुबह छींकने की समस्या: हर इंसान एक खुशगवार और सुहानी सुबह की कल्पना करता है। लेकिन सबका ये सपना पूरा नहीं हो पाता। इसके पीछे छींकने (छींकने) की भी एक वजह हो सकती है। दरअसल कई लोग शिकायत करते हैं कि सुबह उठते ही उनमें छींक आना शुरू हो जाता है। कई बार छींकने के अलावा नाक और गले में खुजली भी होती है। अगर आप या आपका कोई करीबी इस बीमारी का शिकार है, तो आपको इस बीमारी के बारे में जानना बहुत जरूरी है। नियामक जानते हैं कि कुछ लोगों को मोटे तौर पर छींक क्यों आती है।

एलर्जिक राइनाइटिस का कारण है

सुबह ही बढ़ रही अगर छीकें आ रही हैं तो इसे एलर्जिक राइनाइटिस कहा जाता है। ये एक तरह की एलर्जी है जो कुछ लोगों को खासा परेशान कर देती है। जिन लोगों को ये एलर्जी होती है, उनमें सुबह उठते ही छींक दिखाई देती है और गला खुल्लाने लगता है। इसकी वजह यह है कि कणों के बढ़ने से ही नाक के जरिए धूल और आस पास के खतरनाक शरीर में घुस जाते हैं। यूं तो नाक धूल के कणों को रोकने की कोशिश करती है लेकिन फिर भी एक साथ कई सारे धूल के कण शरीर में घुस जाते हैं और उनकी ही प्रतिक्रिया से गले में खुजली के साथ छींक आने लगती हैं। एलर्जिक राइनाइटिस अगर ज्यादा गंभीर हो जाए तो नाक और गले में खुजली के साथ चेहरे पर सूजन भी आ सकती है।

तापमान में परिवर्तन के कारण भी छींकें आती हैं

एलर्जिक राइनाइटिस की वजह से धूल के कण ही ​​नहीं होते। कई बार तापमान में बदलाव के कारण भी एलर्जिक राइनाइटिस हो जाता है और व्यक्ति छींकने लगता है। जब कोई व्यक्ति सोटा होता है, तो उसके शरीर का तापमान कम हो जाता है और उसके बढ़ने से तापमान बढ़ने लगता है। इस ताप में परिवर्तन के कारण ही नासिका तंत्र असंतुलित होता है और छींक आने लगती है।

इस तरह से छुटकारा पाएं

1. एलर्जिक राइनाइटिस की परेशानी होने पर लौकिक भोजन की आदत डालें। खाने में सेंधा नमक का इस्तेमाल करें। हमेशा गुनगुना पानी पीने की कोशिश करें।

2. 10-12 तुलसी के पत्ते, 1/4 चम्मच काली मिर्च पाउडर, चम्मच चम्मच अदरक, और आधा चम्मच वाइन पाउडर को एक कप पानी के साथ धीमी आंच पर बनाएं। जब पानी उपने के बाद करीब आधा रह तब इसे छानकर पी लें। रोज सुबह और शाम के समय पानी के साथ पानी पीने से यह समस्या जल्दी से आराम करने लगती है।

3. आधा चम्मच हल्दी और स्वाद के साथ होश सेंधा नमक को एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से भी यह परेशानी में तेजी से आराम मिलने लगता है। हल्दी में एंटी एलर्जिक, एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी स्ट्रीट गुण वाले तत्व मौजूद होते हैं, राइनाइटिस से आने वाली जलन हो सकती है।

4. एक चम्मच शहद में थोड़ा सा आंवला पाउडर मिलाकर दिन में दो बार लें। इसके अलावा, पुदीने के छाले से बनी चाय पीने से भी इस समस्या में काफी आराम मिलेगा।

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here