सुनील लहरी जिन्होंने रामानंद सागर रामायण में लक्ष्मण की भूमिका निभाई आदिपुरुष भाषा पर गुस्सा | रामायण के ‘लक्ष्मण’ ने ‘आदिपुरुष’ की भाषा बताई, नेटिजन्स ने किया सपोर्ट, बोले

0
40
Spread the love


आदिपुरुष पर सुनील लहरी की प्रतिक्रिया: आदिपुरुष अपने टेलीकॉम रिलीज के बाद से ही कभी वीएफएक्स को लेकर तो कभी हनुमान जी को लेकर कपड़ों को लेकर पूछताछ में मामला हुआ था। इन सभी के बावजूद रामायण पर आधारित होने के चलते फिल्म से दर्शकों को काफी उम्मीदें थीं। अब फिल्म रिलीज होने के बाद दर्शकों के हाथ सिर्फ निराशा लगी है और फिल्म एक बार फिर सवालों से घिर गई है।

जहां रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर ने फिल्म में रावण के अवतार और हनुमान की भूमिका का विरोध किया था, वहीं अब रामानंद सागर की रामायण में ‘लक्ष्मण’ की झलकाने वाले सुनीलहरी ने भी फिल्म में भगवान हनुमान का रोल कर रहे देवदत्त नागे के डायलॉग्स पर सवाल खड़े कर दिए जाते हैं।

सुनील लाहरी ने ‘आदिपुरुष’ की भाषा को बताया
सुनील लाहरी ने ट्विटर पर फिल्म आदिपुरुष का एक कॉलज पोस्ट किया है। इस पोस्टर में फिल्म में हनुमान और रावण के कुछ डायलॉग लिखे गए हैं। इस पोस्टर को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- ‘कहते हैं फिल्म आदि पुरुष रामायण को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है अगर यह सच है तो इस तरह की भाषा का प्रयोग बहुत ही पुरानी बात है…’

सुनील लाहरी को फैंस का सपोर्ट
सुनील लाहरी के इस ट्वीट को नेटिजन्स सपोर्ट कर रहे हैं और जमकर रिप्लाई भी कर रहे हैं। एक यूजर ने लिखा- ‘सुनील सर, कोई दोबारा जन्म भी ले ले तो रामानंद सागर साहब की रामायण नहीं बना सकता… आप लोगों के काम दिल में बसा हुआ है।’

एक दूसरे शख्स ने कमेंट किया- ‘आप सही हैं, रामायण का मजाक बना दिया है आदिपुरुषों ने, इनसे ऊपर की कार्रवाई शुरू की जानी चाहिए..’

इसके अलावा एक उपयोगकर्ता ने आदिपुरुष पर वार करते हुए लिखा- ‘शर्म करो #आदिपुरुष फिल्म के दलाल, फिल्म निर्माता, प्रोड्यूसर्स, निर्देशक, अभिनेता, अभिनेत्री, तुम लोग केवल पब्लिसिटी, टीआरपी के लिए कुछ भी कर सकते हो, किसी हद तक भी जा सकता हो ना… बेशर्मी की भी सीमा होती है, कम लोग…’

ये भी पढ़ें: हिंदू सेना ने की आदिपुरुष के पब्लिक एक्जिबिशन पर रोक की मांग, दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here