सतवंत अटवाल त्रिवेदी देखेंगे हिमाचल के डीजीपी का काम, 14 जुलाई तक संभालेंगे कार्यभार

0
55
Spread the love


डीजीपी सतवंत अटवाल त्रिवेदी:हिमाचल प्रदेश के पुलिस अधिकारी का सचिवालय वर्ष 1996 वर्ष 1996 में बैचलर वयोवृद्ध महिला अधिकारी सतवंत अटवाल का कैथेड्रल रिकॉर्ड बनाया गया। प्रदेश के अनुपम संजय कुंडू 14 जुलाई तक छुट्टियाँ पर हैं। कुंडू की छुट्टी 13 जून को शुरू हुई थी. वह 14 जुलाई के बाद ही ड्यूटी पर लौटेंगे। इस बीच प्रदेश सरकार ने महिला अधिकारी को राज्य बनाया है। इस संबंध में अधिसूचना भी जारी की गई है। इसके अलावा पोस्टिंग का इंतजार कर रहे हैं साल 1994 में बैचलर ऑफिसर राकेश अग्रवाल ने अभद्रता, सिविल डिफेंस और फायर सर्विस के एडीजी पद पर लांछन लगाया है।

14 जुलाई तक साइबेरियाई वैज्ञानिक

हिमाचल प्रदेश के पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू की छुट्टी पर आज 10 दिन का समय बताया गया है। प्रदेश सरकार ने 10 दिन की देरी के बाद सतवंत अटवाल व्यापारी को यह जिम्मेदारी सौंपी। इससे पहले 9 जून को जब कोलोराडो के सलूनी में मनोहर हत्याकांड सामने आया था, उसके ठीक बाद संजय कुंडू छुट्टी पर चले गए थे। नेता प्रतिद्वन्द्वी ठाकुर ने भी रियासत की छुट्टी पर जाने पर सवाल उठाया। साथ ही उन्होंने अब तक किसी को भी नीचे दिए गए सरकार पर आधारित दस्तावेज़ का सार दिया था। मामले में सरकार को बैकफुट पर जाना पड़ा। अब देरी के साथ ही सही, लेकिन सरकार ने प्रदेश को कार्यकारी स्वामित्व दे दिया है. स्थिर वक्त में सतवंत अटवाल स्टूडेंट स्टेट विजिलेंस और एंटी करप्शन ब्यूरो के एडीजी भी हैं।

सात्तवन्त स्मारक को मालिकाना हक जाने की रही है चर्चा

रहस्य है कि हिमाचल प्रदेश में जब सत्ता परिवर्तन हुआ, तब कंसल्टेंसी उद्यमों के बदले जाने की खबरें निकल कर सामने आ रही थीं। क्योंकि अजय कुंडू के पक्ष में लगातार कांग्रेस पार्टी की ताकत बनी रही। हालाँकि सात महीने की समयावधि के बाद भी हिमाचल प्रदेश का राज्य नहीं बदला गया है। रियासत के बदले जाने की ख़बरों के बीच भी सतवंत अटवाल के खजाने की चर्चा जोरों पर है। इस बीच सतवंत अटवाल को यह जिम्मेदारी बैठक के बाद उनके प्रदेश में नए राज्य बनने की चर्चा हुई और सबसे ज्यादा जोर भी पकड़ लिया गया। तवंत अटावाल ने भविष्य में हिमाचल प्रदेश की पुलिस का कारखाना बनाया है, तो प्रदेश की महिला पुलिस का कारखाना बनाया गया है।



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here