बिना रोक टोक पटवारी के मार्गदर्शन में कपास लगी खेत को धान उठित नोंद 7/12 मुलचेरा महसूल क्षेत्र में।

Spread the love

मुलचेरा महसूल क्षेत्र के लगाम ,लगाम चेक गोमनी मलेरा, कोपपुराली तलाठी क्षेत्र में पटवारी के द्वारा कपास लगी खेती को धान उठित 7/12 वाटप बिना रोक टोक। पटवारी के द्वारा खुलेआम सालो से शासन का दिशाभूल कर राजस्व का नुकसान किया जा रहा हैं। पटवारी के द्वारा एक प्रकार का गोरखधंधा पिछले कई सालो से शासन को घुमरह कर किया जा रहा हैं। कपास लगी खेती को धान उठित दिखाकर क्षेत्र में कुंडली मारकर बैठे धान के दलाल को लाभ दिया जा रहा हैं।जो की इन दलाल को पटवारी के द्वारा साठ गांठ कर अन्य राज्य के धान इन तलाठी क्षेत्र के बोगस धान लगी खेत के नाम किसान के नाम धन सोसाइटी में देकर राजस्व की खुलेआम धोखाधड़ी कर चुना लगाया जा रहा हैं।जिसमे पटवारी का खुलेआम सामिल होना दर्शाता हैं।कई सालो से पटवारी के मार्गदर्शन इपिक से लेकर 7/12 को पड़ित होते हुए भीं धान उठित दिखाना, कपास लगी खेत को धान उठित करना।। एक प्रकार का काला धंधा बन गया हैं।जल्द प्रशासन को कठोर कारवाही करनी होगी।नही तो पटवारी और दलाल के बिचोलिंके कारण राजस्व के साथ साथ देश का नुकसान पहुंच रहा हैं। पटवारी का यही तक भ्रष्टचार नही हो रहा हैं।कई वर्ग 2 किं जामीन बिना शासन को जानकारी दिए फेरफार किया जाना। 54 साल से पड़ित जमीन को जमीन माफिया के द्वारा कब्जा करने के लिए पटवारी का इस जमीन को उठीत दिखाकर कर माफिया के बहन बीबी के नाम बोगस फेरफर करने में मदत कर शासन के जमीन को किसी और के नाम करवाना। एक तरह का धंधा बन गया।कब जागेगी प्रशासन और कब बंद होगी पटवारी के बोगस कारभार?

गड़चिरोली से ज्ञानेंद्र विश्वास

संजय रामटेके ( सह संपादक )

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here