सीबीएफसी ने 72 हुरैन मूवी का ट्रेलर खारिज कर दिया, यहां जानिए कारण

0
41
Spread the love


72 हुरैन फ़िल्म: धार्मिक रूपांतरण, नाटकीय कथानक और भोले-भाले लोगों के ब्रेनवॉश के चित्र में बनी फिल्म ’72 हूरें’ (72 हूरैन) पर सेंसर बोर्ड की तरफ से संकट पैदा हो गया है। इस फिल्म के टेलिकॉम को सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सार्ट साछ ने पास करने से मना कर दिया है।

सीबीएफसी के इस फैसले के बाद एक बार फिर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और बोलने की स्वतंत्रता जैसे मुद्दों पर बहस शुरू हो गई है। अब फिल्म के आदेश सीबीएफसी के खिलाफ फैसले की सूचना और प्रसारण मंत्रालय का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रहे हैं।

सीबीएफसी ने फिल्म के टेलिकॉम को रिजेक्ट किया
सीबीएफसी की ये जिम्मेदारी है कि वो दर्शकों को ये सुनिश्चित करें कि फिल्मों को लेकर वो तय मानक का पालन करेंगे। ऐसे में ये बेहद हैरान करने वाला कर देने वाला फैसला ये है कि जिस सीबीएफसी ने फिल्म ’72 हूरें’ की रिलीज के लिए हरी रिसर्च दी है। अब उसी सीबीएफसी ने फिल्म के टेलीकॉम को पास से स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया है।

मामले को इस मंत्रालय तक ले जाएँ अंतिम संस्कार
वहीं फिल्म के टेलिकॉम को रिजेक्ट करने के जजमेंट से ना सिर्फ डेट बल्कि पूरी फिल्म इंडस्ट्री को एक बड़ा झटका लगा है। फ़िल्म के दस्तावेज़ का कहना है कि वो इस मुद्दे को उच्च अधिकारियों के सामने लेकर आयेंगे। साथ ही इसे सूचना और प्रसारण मंत्रालय तक पहुंचाएंगे और संबंधित अधिकारियों से अनुरोध करेंगे कि वो इस मामले में सीबीएफसी के सहायक अधिकारियों से सफ़ाई विभाग को सूचित करें।

7 जून को फिल्म रिलीज की घोषणा की गई थी
’72 हूरें’ के टेलिकॉम में कुत्तों की काली दुनिया की झलक देखने को मिलती है। बता दें कि दो बार नेशनल अवॉर्ड जीत चुके संजय पूरन सिंह चौहान द्वारा निर्देशित फिल्म ’72 हूरें’ का टेलिकॉम डिजिटली रिलीज किया गया था, जबकि इस फिल्म को 7 जून को सीरियल के सुपरस्टार में रिलीज करने का सबसे पहले ऐलान किया गया है। इस फिल्म का निर्माण गुलाब सिंह तंवर, किरण डागर और अनिरुद्ध दवे ने किया है। जबकि अशोक पंडित इस फिल्म के सह-निर्माता हैं।

यह भी पढ़ें-

सत्यप्रेम की कथा बॉक्स ऑफिस भविष्यवाणी दिन 1: स्टारकास्ट पर फिर से रिलीज हुई कार्तिक-कियारा की जोड़ी का जादू, जानें एक दिन पहले कितनी कमयोगी फिल्म



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here