Home Lifestyle जानिए प्रोटीन शेक स्वास्थ्यवर्धक है या नहीं, 16 साल के लड़के की दुर्लभ आनुवंशिक स्थिति के बाद मौत

जानिए प्रोटीन शेक स्वास्थ्यवर्धक है या नहीं, 16 साल के लड़के की दुर्लभ आनुवंशिक स्थिति के बाद मौत

0

[ad_1]

प्रोटीन शेक वास्तव में स्वास्थ्यवर्धक हैं?: प्रोटीन शेक का चलन धीरे-धीरे बढ़ता ही जा रहा है। प्रतिक्रिया के बाद ज्यादातर लोग प्रोटीन शेक स्ट्रापुल पसंद करते हैं। इस शौक में बच्चे से लेकर बड़े तक सभी शामिल हैं। पर ये भी जानना जरूरी है कि ये शेक सभी के लिए स्वस्थ्य कैसे होते हैं। 16 साल के बच्चे की मौत के बाद उठ रहे हैं ये सवाल. मौत का कारण प्रोटीन शेक की वजह से ट्रिगर हुई एक जेनेटिक कैंडिशन मनी जा रही है। इस घटना का शिकार हुए बच्चे का नाम रोहन गोधनिया है। जो प्रोटीन शेक पीकर तीन दिन तक बीमार रहा और फिर उसका ब्रेन डैमेज हो गया। ये साल 2020 का मामला है. इसके बाद जांच में पता चला कि उस प्रोटीन शेक के बच्चे में ऑर्निथिन ट्रांसकार्बामाइलेज नाम की एक जेनेटिक बीमारी पैदा हुई थी।

अधिकांश प्रोटीन का प्रभाव

इस बच्चे की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर यह माना गया कि शरीर में प्रोटीन की मात्रा अधिक होने के कारण ऑर्निथिन ट्रांसकार्बामाइलेज नाम की रेयर जेनेटिक डिजीज विकसित हुई। ये रेयर डिजीज बॉडी में अमेरिका के ब्रेकडाउन को रोकती है। और अमेरिका में ख़ून का बोलबाला है. विशेषज्ञ का मानना ​​है कि प्रोटीन शेक के भंडार के बाद कई तरह के अपशिष्ट पदार्थ शरीर में बने होते हैं। जो ऐसा असरदार डाल सकते हैं.

इस संबंध में कोरोनर टॉम ओसबोर्न की रिपोर्ट के बारे में सलाह दी गई है कि प्रोटीन पाउडर को इस संबंध में लिखित चेतावनी देनी चाहिए।

प्रोटीन शेक संरचना चाहिए या नहीं?

इस मामले के बाद स्वास्थ्य विशेषज्ञ की राय है कि शरीर को सबसे पहले प्रोटीन शेक पीना बहुत जरूरी है। जिम जाने वाले लोग हों या बिना प्रोटीन शेक पीने वाले लोग, सभी के लिए इसका अधिक सेवन नुकसानदायक हो सकता है। अंत में हो सके ऑनलाइन प्रोटीन लें। अगर प्रोटीन शेक हैं तो शरीर की ज़रूरत को समझने के बाद ही उसका इस्तेमाल करें।

यह भी पढ़ें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here