[ad_1]

प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : एजेंसी

विस्तार


दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग के गंडूल के जंगलों में ऑपरेशन के छठे दिन सोमवार को दो और शव मिले हैं। इनमें एक शव मुठभेड़ के पहले दिन लापता जवान प्रदीप का बताया जा रहा है। जबकि दूसरे शव की शिनाख्त नहीं हुई है। इस बीच पुलिस रविवार को एक आतंकी ठिकाने से मिले जले हुए शव की शिनाख्त के लिए लश्कर आतंकी उजैर अहमद के परिवार वालों का डीएनए नमूना लेने की तैयारी कर रही है ताकि शव की शिनाख्त की जा सके। सुरक्षाबलों का मानना है कि यह शव ए प्लस कैटेगरी के आतंकी उजैर का हो सकता है जो आतंकी ठिकानों पर गोलाबारी के दौरान मारा गया है।

सोमवार सुबह एक बार फिर सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच गोलीबारी हुई, जो थोड़ी देर बाद शांत हो गई। इसके बाद सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान के दौरान दो शव बरामद किए। सूत्रों का कहना है कि बुधवार को मुठभेड़ के पहले दिन सेना के दो जवान लापता हुए थे उनमें से एक प्रदीप भी थे। इसके साथ ही इस मुठभेड़ में अब बलिदानियों की संख्या चार हो गई है। इनमें 19 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष धोंचक और जम्मू-कश्मीर पुलिस के उपाधीक्षक हुमायूं भट व सेना के जवान प्रदीप शामिल हैं। अभी दो शवों की शिनाख्त होनी बाकी है। इनमें एक शव आतंकी उजैर अहमद का माना जा रहा है। अधिकारियों ने कहा कि सुरक्षा बल घने वन क्षेत्र की निगरानी के लिए ड्रोन और हेलीकॉप्टरों का उपयोग कर रहे हैं, जहां कई गुफा जैसे ठिकाने हैं, जहां माना जाता है कि आतंकवादी बुधवार से छिपे हुए हैं।

[ad_2]

Source link

Umesh Solanki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *