स्वास्थ्य युक्तियाँ जीभ पर चेतावनी के संकेत, जानिए इसका रंग और लक्षण

0
65
स्वास्थ्य युक्तियाँ जीभ पर चेतावनी के संकेत, जानिए इसका रंग और लक्षण
Spread the love


जीभ का रंग : क्या आपने कभी सोचा है कि बीमार होने के बाद जब डॉक्टर के पास जाते हैं तो वे सबसे पहले आपकी जीभ क्यों देखते हैं। बचपन में हमारे साथ ऐसा कई बार हुआ होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि जीभ में छोटे से बदलाव से डॉक्टर बीमारियों को समझते हैं। जीभ का रंग (जीभ का रंग) या इसमें जो परिवर्तन हो रहे हैं, उसके आधार पर डॉक्टर दवा देते हैं। कई रिसर्च में यह बात साबित हुई है कि जीभ में कैंसर और पतली जैसी बीमारियों के संकेत भी हो सकते हैं। मतलब जीभ का रंग आपकी सेहत का हाल बता सकता है। तो ज़रा जान लें कि जीभ में बदलाव से किन-किन बीमारियों के संकेत (जीभ पर चेतावनी के संकेत) मिल सकते हैं…

हेयरलाइन या फर

स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार, कभी-कभी जीभ पर बाल या फर जैसी चीज चिपकी हुई समझ आती है। यह सफेद, काला या भूरा नजर आ सकता है। ऐसा तब होता है, जब प्रोटीन जीभ पर पहले से मौजूद किंकों की हेयरलाइन में बदलाव हो जाता है। इसमें बैक्टीरिया फंस सकते हैं। इससे स्वास्थ्य को नुकसान भी पहुंच सकता है।

जीभ का कालापन

कुछ लोगों की जीभ का रंग काला हो जाता है। ऐसा एंटासिड टैबलेट के सेवन के बाद होता है। एंटासिड में बिस्मथ पाया जाता है, जो कि ठिकाने के साथ जीभ की ऊपरी सतह में फंसा हुआ है। यह गंभीर समस्या नहीं है। मुंह की सफाई से यह ठीक हो जाता है। हालांकि, पतली के कुछ किशोरों में जीभ का रंग काला होने की समस्या बन सकती है। अगर एंटासिड के बिना ही जीभ का रंग काला है तो डॉक्टर से संपर्क करें।

जीभ का लाल होना

जीभ का रंग लाल हो सकता है। जीभ सुरख लाल होने का मतलब कावासाकी (कावासाकी) बीमारी भी हो सकती है। विटामिन की कमी से भी ऐसा हो जाता है। बच्चों में कावासाकी बीमारी ज्यादा होती है। स्कारलेट फीवर होने पर भी जीभ का रंग लाल हो सकता है।

जीभ में जलन

अगर जीभ में जलन हो तो एसिडिटी की वजह हो सकती है। कई बार तंत्रिका संबंधी परेशानी की वजह से भी जीभ में जलन हो सकती है। इसलिए जीभ का ख्याल रखना जरूरी होता है।

जीभ में घाव

जीभ पर घाव है और कई दिनों से ठीक नहीं हो रहा है और भोजन-पीने, नीचा दिखाने में परेशानी हो रही है तो सावधान हो जाएं, क्योंकि यह कैंसर के संकेत हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

जीभ पर सफेद दाग

जीभ पर सफेद निशान या कोटिंग होना यीस्ट इंफेक्शन (यीस्ट संक्रमण) के संकेत हो सकते हैं। बच्चों और रोमांटिक में ज्यादा देखने को मिलता है। जीभ पर सफेद कोटिंग ल्यूकोप्लाकिया की वजह से भी हो सकता है। तंबाकू खाने वालों में यह समस्या ज्यादा होती है।

यह भी पढ़ें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here