Home Lifestyle पेट की सेहत और हड्डियों को बनाता है मजबूत जापानी नाटो है किसी सुपरफूड से कम नहीं, इसके फायदे |

पेट की सेहत और हड्डियों को बनाता है मजबूत जापानी नाटो है किसी सुपरफूड से कम नहीं, इसके फायदे |

0
पेट की सेहत और हड्डियों को बनाता है मजबूत जापानी नाटो है किसी सुपरफूड से कम नहीं, इसके फायदे |

[ad_1]

बालों का झड़ना कम करने के लिए योग आसन: आजकल की भागदौड़ भरी लाइफ में अगर शरीर पर सबसे ज्यादा कुछ असर कर रहा है तो वो है स्ट्रेस। तनाव यानी स्ट्रेस (तनाव)शरीर और दिमाग को अजीबोगरीब स्थिति होती है। काम का दबाव, परिवार की चिंता और अन्य ढेर सारे मुद्दे हैं जिनके अंदर दबकर इंसान तनाव का शिकार हो जाता है। लेकिन ये तनाव केवल आपके शरीर या दिमाग को ही नहीं बल्कि आपके बालों को भी नुकसान पहुंचा रहा है। स्वस्थ विशेषज्ञ कहते हैं कि तनाव के कारण बाल झड़ना (बाल झड़ना) आम हो गए हैं। देखें तो पोषण की कमी से होने वाला बालों का झड़ना सही डाइट से रोक जा सकता है लेकिन तनाव की वजह से होने वाला बाल झड़ना खतरनाक होता है क्योंकि इसमें किसी व्यक्ति को पता नहीं चलता कि वो तनाव का शिकार है। अगर आपको भी लगता है कि तनाव आपके बाल झड़ने का कारण बन रहा है तो आप योग का सहारा लेकर बाल झड़ना और तनाव दोनों पर योन पा सकते हैं। अजराम आज जानते हैं कि कुछ बेहतरीन योगासन (तनाव और बालों का झड़ना कम करने के लिए योग) की मदद से आपके बालों का झड़ना और तनाव की परेशानी कैसे खत्म हो सकती है।

प्राणायाम से मिलेगा लाभ

देखें तो प्राणायाम सांस लेने का व्यायाम कहा जाता है। इसमें अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करने, गहरी सांस लेने और मस्तिष्क को एकग्र करने का प्रयास किया जाता है। इससे तनाव दूर होता है और दिमागी रिलेक्स मिलता है। स्ट्रेस से मुक्ति पाने के लिए प्राणायाम बहुत ही जोखिम भरा व्यायाम कहा गया है। यह करना बेहद आसान है। पालथी को पकड़ लिया जाता है और आपकी शिक्षा बिल्कुल सीधी हो जाती है। अब अपनी पलकों को घुटनों पर रखते हुए अपनी आँखों को बंद कर लिया। अब अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करते हुए गहरी सांस लेना शुरू करें। पहले एक गहरी सांस लें और फिर धीरे-धीरे ध्यान केंद्रित करते हुए उस सांस को छोड़ दें। इस तरह के कथन में आपको अपना दृष्टिकोण यानी ध्यान केवल अपनी सांसों पर ही लगाना है। इस व्यायाम को नियमित रूप से करने पर आपका तनाव धीरे-धीरे कम हो जाएगा।

सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार बेहद आसान और तनाव के लिए सबसे प्रचलित योगासन कहा गया है। इससे ध्यान केंद्रित करने में सफलता मिलती है और तनाव कम होता है। इससे एनर्जी का स्तर बढ़ता है और शरीर सही तरीके से डिटॉक्स होता है। सूर्य नमस्कार को सुबह के समय ही करना चाहिए और इसे खाली पेट करने से काफी लाभ मिलता है।

अनुलोम विलोम घट घट जाएगा तनाव

अनुलोम विलोम को भी तनाव के लिए जोखिम माना जाता है। इससे ब्रेन कोक्स रिले होगा और आपका हेयर फॉल रुक जाएगा। इस आसन की मदद से श्वास तंत्र काफी रिलेक्स करता है। इसे करने के लिए सबसे पहले प्राणायाम वाली मुद्रा में बैठ जांए। अब सीधे हाथ के अंगूठे को निचली नाक के नथुने पर रखें और दाहिने नाक के नथूने से सांस लें। अब ठीक इसके विपरीत बाएं हाथ के अंगूठे से दाएं नाक के नथुने को दबाते हुए नीची नाक के नथुने से सांस लें। इस तरह आप ये प्रक्रिया एक दिन में दस सेकंड बार कर लेते हैं। इससे आपका ध्यान केंद्रित होगा और आपके दिमाग को भी काफी आराम मिलेगा।

यह भी पढ़ें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here