Home Lifestyle ब्लैक पेपर और चाय के फायदे और साइड इफेक्ट्स

ब्लैक पेपर और चाय के फायदे और साइड इफेक्ट्स

0
ब्लैक पेपर और चाय के फायदे और साइड इफेक्ट्स

[ad_1]

चाय को शायद ही किसी को पसंद नहीं होगा।थकान, सिरदर्द, एजेज के कब्जे चाय से बेहतर और कोई फैसला नहीं हो सकता है। दुनिया में सबसे ज्यादा भारतीय ही है जो चाय पीते हैं। वैसे तो सुबह-सुबह जूस पीने की सलाह दी जाती है लेकिन भारत में लोग अपने दिन की शुरआत चाय के साथ करते हैं। आपको जानकर हैरानी दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली मसाला काली मिर्च है। काली मिर्च किसी वरदान से कम नहीं है। धरती के बंधन से भी यह अच्छा विकल्प है। भारत में लोग खांसी, सर्दी, छोटी-मोटी बीमारियों में काली मिर्च का इस्तेमाल करते हैं।

चाय में काली मिर्च मिलाकर खाने के फायदे

काली मिर्च में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होता है। जो त्वचा को फ्री रेडिकल्स होने से बचाते हैं।

काली मिर्च में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं। जो शरीर में होने वाले सूजन को ठीक करता है।

इस खाने या पीने से ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल रहता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करने में यह काफी अधिक लाभ है।

काली मिर्च पेनकिलर की तरह काम करता है।

अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं या कैलोरी बर्न करने का मन बना रहे हैं तो काली मिर्च सबसे अच्छा है। क्योंकि यह मेटाबॉलिज्म प्राप्त होता है।

काली मिर्च वाली चाय आपके मूड स्विंग को भी कंट्रोल करती है।

काली मिर्च चाय पीने से दिमाग शांत रहता है।

ऐसे बनाएं काली मिर्च चाय

सबसे पहले एक कप पानी लें और उसे अच्छे से गैस पर निर्भर करें। फिर उस पानी में काली मिर्च और अदरक कूटकर डालें। जब अदरक और काली मिर्च से अच्छे से 3-5 मिनट तक उपने तब उसे एक कप में छाल लें। फिर शामिल हों और शहद डालें। अब तैयार है आपकी हेल्दी और टेस्टी चाय।

काली मिर्च चाय का नुकसान

अगर मान आप पूरे दिन में 2-4 कप चाय पीते हैं। और आपकी आदत काली मिर्च वाली चाय पीने की है तो इससे आपके पेट में जलन हो सकती है। और यह आपके पेट के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

आँखों के संपर्क में काली मिर्च आने से जलन शुरू हो सकती है।

जो महिला गर्भवती या वैसी महिला है जो अपने बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराती है उन्हें काली मिर्च बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए

कुल मिलाकर बात यह है कि काली मिर्च के ढेर सारे फायदे हैं तो काली मिर्च के नुकसान भी हैं। इसलिए जब भी काली मिर्च तो इस बात का ध्यान रखें कि आप किस मात्रा में खा रहे हैं।

ये भी पढ़ें: बैंगन काटने का क्या है सही तरीका, फिर नहीं पड़ेगा काला…

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here