Home Lifestyle नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी 2023 विश्व युद्ध वित्तीय संकट मंगल मिशन नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी 2023 विश्व युद्ध वित्तीय संकट मंगल मिशन नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी

0
नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी 2023 विश्व युद्ध वित्तीय संकट मंगल मिशन नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी

[ad_1]

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां: फ्रांस के जाने-माने भविष्यवक्ता नास्त्रेदमस की अधिकतर भविष्यवाणी सच साबित हुई हैं। नास्त्रेदमस पूरी दुनिया को लेकर कई भविष्यवाणियां कर रहे हैं जिनमें से कई भयानक घटनाएं हैं।

1566 में अपनी मृत्यु से पहले उन्होंने 6,338 भविष्यवाणियां की थीं, जिनमें इंदिरा गांधी की मृत्यु, विश्व युद्ध आदि शामिल हैं। हर साल नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी का लोगों को इंतजार रहता है, आइए जानते हैं साल 2023 के लिए नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी।

साल 2023 में नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी (Nostradamus Predictions 2023)

धर्म रीलों

शाही भवन पर आग – साल 2023 में नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के अनुसार शाही भवन पर आग लगी रहेगी। कई लोग इसे दुनिया खत्म कर रहे हैं तो वहीं कई लोग इसकी व्याख्या दुनिया के नए कानून से करते हैं। वही इसके व्याख्य करने वाले इसे ब्रिटेन के शाही परिवार से जोड़ रहे हैं।

मंगल पर इंसान की पहुंच – नास्त्रेदमस ने लिखा है ‘मंगल पर रोशनी गिर रही है’। इस भविष्यवाणी में मंगल ग्रह पर इंसानों की लैंडिंग की बात से जोड़ी जा रही है। इन भविष्यवाणियों में वे मनुष्यों के मंगल ग्रह पर जाते हैं और वहां के जीवन का ईशारा करते हैं।

दो महान शक्तियों का मिलन – नास्त्रेदम की भविष्यवाणी कहती है कि दुनिया की दो महान शक्तियां एक साथ नजर आएंगी। कई जानकारियाँ इसे चीन और रूस के बढ़ते हुए भ्रम से जोड़ रहे हैं तो कुछ इसकी दुनिया में बढ़ती लोकप्रियता से कतरा रहे हैं क्योंकि भारत भी अब दुनिया के सामने एक नई शक्ति के रूप में अपनी जगह बना रहा है।

‘इंसान ही इंसान को खाएगा’- नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के अनुसार साल 2023 दुनिया के कई देशों में आर्थिक संकट दिखाई देता है। कोरोना और रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद कई देशों में नौकरियां चरम पर पहुंचेंगी। मिलियन लोग अपना कार्य खो देंगे. नास्त्रेदमस लिखते हैं, ‘गेहूं की डोकी इतनी ऊपर उठेगी कि आदमी-आदमी को खा जाऊंगा।’

सूखे के बाद भयानक बाढ़

ग्लोबल ग्लोबल वार्मिंग को लेकर नास्त्रेदमस ने अपनी भविष्यवाणी में चेतावनी दी है। भविष्यवाणी के अनुसार ‘सूरत पहले तपेगा और फिर मचलियां उपकल्पनाएँ’। इसकी व्याख्या कर रहे लोग कहते हैं कि धरती पहले डूबी फिर भयानक बाढ़ से जनजीवन अस्त वस्त हो जाएगी।

नास्त्रेदमस की इस घटना ने चौंकाया

नास्त्रेदमस का जन्म 14 दिसंबर, 1503 को फ्रांस के छोटे-से गांव सेंट रेमी में हुआ था। उन्होंने अपनी जवानी के दिनों से ही भविष्यवाणियां करना शुरू कर दी थीं। एक ऐसी घटना थी, जिससे पूरे यूरोप में सनसनी फैल गई थी। एक बार वे अपने दोस्तों के साथ इटली में घूम रहे थे। तभी उन्होंने एक युवक को इंसान में देखा। जब युवक पास आया तो उसने सिर झुकाकर स्वीकार कर लिया। दोस्त ने हैरान होते हुए इसका कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि यह व्यक्ति आगे चलकर पोप का संकल्प ग्रहण करेगा। वह व्यक्ति फेलिस पेरेसी थे, जो 1585 में पोप फिर चले गए।

चाणक्य नीति: संकट के समय याद रखें चाणक्य की 3 बातें, बाल भी बांका नहीं कर सकते नहीं

अस्वीकरण: यहां बताई गई जानकारी सिर्फ संदेशों और जानकारियों पर आधारित है। यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी विशेषज्ञ की जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित सलाह लें।

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here