चाय के साथ बिस्कुट खाना सेहत के लिए हानिकारक है इसके सेवन से ब्लड में शुगर लेवल बढ़ जाता है

0
54
Spread the love


कई लोग ऐसे होते हैं जो सुबह की शुरुआत दूध वाली चाय और बिस्कुट से करते हैं। कुछ ऐसे सच हैं कि खाली पेट चाय पीने से बिस्किट खा लो इससे एसिडिटी नहीं होगी। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बताएं कि ऐसा करना बिल्कुल गलत है। यह स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। इसलिए सरकार की घोषणाओं में सिर्फ हेल्दी फूड ही दिया जाना चाहिए। हेल्दी फूड देने से सरकारी ऑफिस में काम करने वाले ऑफिसर्स की क्षमताएं स्वीकार करते हैं और उन्हें लेते और बीपी जैसी बीमारियां नहीं होती हैं।

स्वस्थ जानकार के अनुसार चाय-बिस्किट के साथ में कभी भी खाना नहीं चाहिए। क्योंकि बिस्किट बनाने के लिए फ्लोर और खातों को रिफाइंड किया जाता है। जिसकी वजह से वजन और मोटापा दोनों बढ़ने लगता है। यही कारण है कि डॉक्टर से लेकर हेल्थ विशेषज्ञ तक चाय-बिस्किट के साथ खाने से मना करते हैं।

चहरे पर उम्र से पहले झुर्रियां पड़ना

आजकल खराब लाइफस्टाइल और डिक्सन की वजह से चेहरे पर नींद आने से पहले झुर्रियां पैदा हो जाती हैं। जिसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह परेशानी का सबसे बड़ा कारण है चाय-बिस्किट संयोजन भी। क्योंकि बिस्कुट में मिलने वाला रिफाइंड शुगर में किसी भी तरह का कोई अनाज तत्व नहीं होता है। जिसकी वजह से स्किन पर झुर्रियां लगती हैं। इसलिए हमने हेल्दी खाना खाया है। इससे चेहर को कोई नुक्कड़ नहीं होता है और स्किन ग्लो भी करती है।

वजन बढ़ने का कारण

बिस्किट में हाई कैलोरी और कोलाज किया गया फैट होता है। एक प्लेन बिस्किट में 40 प्रतिशत कैलोरी होता है। वहीं क्रीम या ताजा इलेक्ट्रॉनिक बिस्किट में 100-150 कैलोरी होती है। जिन लोगों को बिस्किट खाने की खतरनाक लत होती है उन्हें पता होना चाहिए कि बिस्किट खाने से वजन बढ़ता जा रहा है।

दांत पर बुरा असर पड़ता है

चाय-बिस्किट का खराब कॉम्बिनेशन आपके दांत को खराब तरफ खराब कर सकता है। चाय -बिस्किट में पाए जाने वाले सुक्रोंज दांत खराब करने का कारण बन सकता है। ज्यादा मात्रा में चाय बिस्किट खाने से जल्दी दांत गिरना, दांत टूटना, दातों में छेद होना सहित कई दांत से हर्ब बीमारी आपको हो सकती है। दांत का रंग खराब होना, दांत में होना और उस पर काले धब्बे होना भी चाय और बिस्किट के कारण होता है।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए नुस्खे, तरीके और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें: सिर होने का दर्द सही या गलत है! इसके पीछे क्या है लॉजिक… जानें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here