पीरियड्स के दौरान होने वाले तेज दर्द से राहत मिलती है, तो अपने सोने का तरीका कुछ यूं ही अपनाएं

0
39
Spread the love


पीरियड्स का आना एक महिला के लिए बेहद जरूरी है क्योंकि इसमें शामिल है कि आप शारीरिक रूप से स्वस्थ्य हैं या नहीं। पीरियड्स में गड़बड़ी का मतलब है कि आपका स्वास्थ्य ठीक नहीं है। लेकिन पीरियड्स के वो 5 दिन सबके लिए तो नहीं, लेकिन कुछ महिलाओं या लड़कियों के लिए परेशानी जरूर होती है। खासतौर पर उन लड़कियों के लिए जिन्हें पीरियड्स के दौरान पेट और थाई में तेज दर्द का सामना करना पड़ता है। आज हम अपने लेख के माध्यम से इस दर्द से राहत पाने के लिए कुछ उपाय लेकर आए हैं। कुछ लड़कियों को पीरियड्स के दौरान इतना दर्द होता है कि वे ड्रग्स, बेहोश पैड का इस्तेमाल करने लगती हैं। ड्रग्स तो आपको राहत प्रदान करते हैं लेकिन शरीर पर इसके ढेर सारे ढेर लगे रहते हैं। इसलिए आज हम आपको पीरियड्स के दर्द से राहत के लिए कुछ नैचुरल तरीका विकल्प। जिससे आपको तुरंत राहत मिलेगी। 

पीरियड्स के दौरान कोशिश करें लेफ्ट साइड सोने की

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत पाना है तो आपको लेफ्ट साइड की तरफ सोएं। इससे आपको तुरंत राहत मिलेगी। मशहूर सिंगर डॉ सुषमा तोमर ने ऑनली माई हेल्थ को दी जानकारी के मुताबिक बताया कि पीरियड्स के दौरान लेफ्ट साइड में सोने से प्रेग्नेंसी में ब्लड का फ्लो बढ़ जाता है। जिसकी वजह से पीरियड्स के दर्द में राहत मिलती है। बाईं ओर सोने से लिवर पर भी दबाव नहीं पड़ता है। है। ऐसे में घुटने के नीचे तकिये को लेकर सोने से काफी आराम मिलता है। घुटनों के नीचे रखने और पीठ के बल सोएंगे तो काफी राहत मिलेगी। इससे पेट पर खिंचाव कम होता है। किन पीरियड्स के दर्द से राहत मिलती है। 

पीरियड्स के दौरान पेट के बल सोने से भी काफी आराम मिलता है 

पेट के बल सोना सटीक अच्छा नहीं माना जाता है। लेकिन पीरियड्स के दर्द से बचने के लिए आप थोड़ी देर के लिए पेट के बल सो सकते हैं। पेट के बल सोने से पेट के निचले हिस्से में होने वाले दर्द और ऐंठन से तुरंत राहत मिलती है। और आप धीरे-धीरे आराम करेंगे। em> 

ये भी पढ़ें: साइजेरियन शिकायत के बाद महिलाओं की रीढ़ की हड्डी में तेज दर्द होता है, हां इसके कारण और बचाव



Source link

Umesh Solanki

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here