[ad_1]

स्वास्थ्य सुझाव : आपका खाना बनाने का तरीका कैंसर बीमारी को जन्म दे सकता है। हैरान कर देने वाली है इस बात का खुलासा एक रिसर्च में हुआ है. कैंसर एक खतरनाक और मौसमी बीमारी है। खाना पकाने के तरीके (Food AndCancer) इसके खतरे को और भी ज्यादा बढ़ा देते हैं. दंगल का मानना ​​है कि आप को किस टेंपरेचर पर पकाते हैं, यह सामान जरूरी है। कई बार पका हुआ खाना खाने से कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। आइए जानते हैं कैंसर को कैसे बढ़ावा दे सकते हैं खाना पकाना…

हाई तेनरेचर पर ना घटिया खाना

भीड़ का कहना है कि हाई टेंपरेचर पर खाना पकाना खतरनाक होता है। इससे कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के सिल्वा ने अपने एक शोध में पाया कि जिस तरह से घर में खाना खाया जाता है, उसका संबंध सीधे तौर पर कैंसर (कैंसर) जैसी सामान्य बीमारी से है।

बार-बार पकाए गए खाद्य पदार्थों से इनकार

डिटेक्शन में यह भी बताया गया है कि अगर कोई भी खाना पकाने के लिए प्याज खाता है तो बार-बार फास्ट फूड खाना खतरनाक हो सकता है। रेड मीट और डीप फ्राइड फूड्स इसी तरह से बनते हैं, इसलिए किसानों से कैंसर होने का खतरा सबसे ज्यादा रहता है।

फास्ट फूड पर पका खाना से कैंसर कैसे होता है

वौजी ने बताया कि अगर कोई भी खाद्य पदार्थ ज्यादा पकता है तो उसमें से कुछ तत्व निकलते हैं, जो डीएनए तक पहुंच सकते हैं। इससे कैंसर को बढ़ावा देने वाले तत्व सक्रिय हो सकते हैं। ये तत्व सिर्फ डीएनए को नुकसान पहुंचाने का काम कर सकते हैं, बल्कि कैंसर और खतरा का कारण बन सकते हैं।

ज्यादा पका खाना नहीं

सबसे बड़ी बात यह है कि जब हम किसी भोजन को ज्यादा तेज आंच पर या बार-बार पकाते हैं तो उसमें मौजूद विटामिन, विटामिन, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट जैसे तत्व नष्ट हो सकते हैं, जिससे वह मसायनिक नहीं रह जाता है।

अस्वीकरण: इस लेख में बताई गई विधि, तरकीबें और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़ें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *