Home Lifestyle गुरु पूर्णिमा 2023 शुभ योग गुरु दीक्षा महत्व गुरु दोष उपाय

गुरु पूर्णिमा 2023 शुभ योग गुरु दीक्षा महत्व गुरु दोष उपाय

0

[ad_1]

गुरु पूर्णिमा 2023 तिथि: गुरु पूर्णिमा का पर्व 3 जुलाई 2023 को मनाया जाएगा। गुरु हमारे जीवन के मार्गदर्शक होते हैं। यदि कुंडली में गुरु उच्च और प्रबल स्थान पर हैं तो हमें कार्य में सफलता, यश और कीर्ति की प्राप्ति होती है। कुंडली में गुरु को मजबूत करने के लिए गुरु पूर्णिमा पर गुरु की पूजा अवश्य करें।

प्राचीन काल से ही आषाढ़ पूर्णिमा पर गुरु पूजन की परंपरा चली आ रही है, क्योंकि इसी दिन महर्षि वेद व्यास जी का जन्म हुआ था। गुरु पूर्णिमा के दिन शिष्य अपने गुरुओं की प्रार्थना करते हैं और आशीर्वाद लेते हैं। इस वर्ष गुरु पूर्णिमा पर कई शुभ योग का संयोग बन रहा है, गुरु दीक्षा से जीवन में सुख, सफलता प्राप्त होगी।

गुरु पूर्णिमा 2023 शुभ योग (गुरु पूर्णिमा 2023 तिथि शुभ योग)

गुरु पूर्णिमा वाले दिन ब्रह्म योग, इंद्र योग और बुधादित्य राजयोग बन रहा है। इन शुभ योगों में गुरुओं का दीक्षा लेना शुभफलदायी होगा। गुरु के चरण वन्दन से मनोवांछित फल की प्राप्ति होगी। जीवन के कष्ट दूर होगा।सफलता की राह आसान होगी।

  • ब्रह्म योग – 02 जुलाई 2023, रात्रि 07.26 – 03 जुलाई 2023 दोपहर 03.45
  • इंद्र योग – 03 जुलाई 2023, दोपहर 03.45 – 04 जुलाई 2023, सुबह 11.50
  • बुधादित्य योग – 24 जून को बुध का मिथुन राशि में प्रवेश होगा। सूर्य पहले से ही मिथुन राशि में हैं। ऐसे में इन राशियों की युति से बुधादित्य राजयोग बन रहा है।

गुरु पूर्णिमा पर गुरु दीक्षा कैसे लें (गुरु पूर्णिमा गुरु दीक्षा महत्व)

पहले से ली गई गुरु पूर्णिमा के दिन उन्होंने आपके कान में जो गुप्त, गुरु मंत्र का जाप बताया है, उसे नियमित रूप से 5 या 11 बार जप करें। साथ ही गुरु पूर्णिमा के दिन उस मंत्र का जाप विशेष रूप से करें। अगर आपने किसी को आध्यात्मिक गुरु नहीं बनाया है, मतलब किसी से गुरु दीक्षा, मंत्र नहीं लिया है तो भगवान विष्णु को गुरु से परिचित कराएं। गुरु पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की भी पूजा की जाती है।

गुरु पूर्णिमा पर गुरु दोष निवारण के उपाय

  • गुरु पूर्णिमा के दिन से गुरु ग्रह के मंत्र ॐ बृं बृहस्पतये नमः का नियमित जाप करें। इस कुंडली का गुरु दोष बाहर हो जाएगा और जीवन में टूट जाएगा।
  • अपने गुरु पूजा के बाद किसी गरीब और मिशाल ब्राह्मण को पीला वस्त्र, चने की दाल, हल्दी, सोना, केसर, हल्दी, सोना, केसर, हल्दी आदि का दान करें। ऐसा करने से कुंडली से गुरु दोष समाप्त हो जाएगा।

जुलाई 2023 व्रत महोत्सव: गुरु पूर्णिमा, हरियाली सब्जी कब? जानें जुलाई माह के व्रत-त्योहार की सूची

अस्वीकरण: यहां संस्थागत सूचनाएं सिर्फ और सिर्फ दस्तावेजों पर आधारित हैं। यहां यह जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह के सिद्धांत, जानकारी की पुष्टि नहीं होती है। किसी भी जानकारी या सिद्धांत को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here