[ad_1]

मानसून के दौरान शिशु को सुरक्षित रखने के टिप्स: मॉनसून का सीज़न ख़त्म हो गया। जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली है वहीं इस मौसम में संक्रमण का खतरा भी बना हुआ है। जो कि आपका सुखद मिश्रण तैयार किया जा सकता है। हर किसी को अपनी खास खाल रखने की जरूरत होती है सबसे ज्यादा नए माता-पिता को समान देने की जरूरत होती है, क्यों छोटे बच्चों की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। स्किन सेंस असामान्य है। ऐसे में इस मौसम में बच्चों को कई तरह की दिक्कतें हो सकती हैं। आइए जानते हैं इनसे बचने के उपाय के बारे में और भी कुछ।

शिशु को हो सकती है ये समस्या

1.फंगल संक्रमण के कारण बच्चे में मुहांसे की समस्या हो सकती है। इससे त्वचा लाल हो जाती है। त्वचा पर छोटे लाल दानें हो सकते हैं। डोनर शोल्डर, पृथी, थोडी और थोड़ी पर हो सकती हैं। अगर साफ सफाई का ध्यान ना दिया जाए तो यह पूरे शरीर में भी हो सकता है।

2.बारिश के मौसम में बच्चों के स्कैल्प पर पापड़ी जमने की समस्या भी बहुत ज्यादा होती है. इसे क्रैडल कैप के नाम से जाना जाता है। ये कई बार इतनी मोटी हो जाती है कि आसानी से नहीं मिलती। अगर इसे रवाना किया जाए तो दर्द और खून की संभावना बनी रहती है।

3.बैल के मौसम में सबसे आम बैक्टीरिया में से एक है जो नवजात शिशुओं को भी प्रभावित करता है। बारिश होने की वजह से गंदगी या गंदगी में पानी का जमाव हो जाता है जो मच्छरों के जन्म का कारण बनता है। मलेरिया के कारण बुखार, कंपकपी, दर्द, सर्दी जुखाम की समस्या हो जाती है।

4.नैपी रैशेज़ की समस्या भी हो सकती है। जूतों के दिन में कपड़ों में धूप नहीं लगती। ऑफिस में लॉज रहता है. अगर आप अपने बच्चे को नाम कपड़े पहनाते हैं या फिर मीठे हाथों से कपड़े पहनते हैं या फिर कपड़े पहनते हैं तो इससे फंसी रैशेज की समस्या होती है।

5.नवजात शिशु को तैयार करने की समस्या भी हो सकती है। अगर आप स्टिकर क्रिएटर्स हैं तो इसमें मौजूद पानी में क्रिएटर्स क्रिएटर्स हैं। इस योजना में मच्छर पैदा होते हैं। इसके कारण नवजात को बुखार, जुकाम की समस्या हो सकती है।

ऐसे करें बचाव

  • अपने बच्चे को एल्बम वाले कमरे में ना रखें। ब्लॉकचेन की हवा के संपर्क में आने से बचें। शिशु के सिर और स्कार्फ को स्ट्रेंथ रखें।
  • नवजात शिशु को संक्रमण से बचाने के लिए स्तनपान करवाएँ। क्योंकि चूहों से इम्यूनिटी घनत्व होता है और इंफेक्शन का खतरा कम होता है।
  • घर में पूरी तरह साफ सफाई की व्यवस्था। खिड़की बंद रखें ताकि मच्छर और मक्खी से संक्रमण ना हो। इसके अलावा बच्चे को कभी भी हाथ से ना पकड़ा जाता है।
  • बच्चे को मोटे सूट के कपड़े में ढककर रखें और सुनिश्चित करें कि कपड़े धूप में पूरी तरह से पसंद किए जाएं या उपयोग से पहले आयरन किए गए हों।
  • अन्य मौसमों की तुलना में सुपरमार्केट को अधिक बार स्केल किया गया। अपने बच्चे को बार-बार स्ट्रॉबेरी ब्रेक डेट और सिगरेट वाले क्षेत्र को हवा के संपर्क में आने के लिए कहें।रेशेज स्टॉक तो टरंड बेबी पाउडर का इस्तेमाल करें।

अस्वीकरण: इस लेख में बताई गई विधि, तरकीबें और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़ें: मॉनसून में फंगल इन्फेक्शन: बारिश के पानी से फैल रहा फंगल इन्फेक्शन, मॉनसून में ऐसे रखें अपनी यात्राओं की प्रक्रिया

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *