Home Gadgets Halo AI Headband introduces Dream Control Device will let you get lucid dreams on demand

Halo AI Headband introduces Dream Control Device will let you get lucid dreams on demand

0
Halo AI Headband introduces Dream Control Device will let you get lucid dreams on demand

[ad_1]

Dreams on Demand: सपनों की दुनिया इंसानों को हजारों सालों से उलझाती रही है. यह एक ऐसा रहस्यमयी संसार है, जिसके भेद को इंसानी सभ्यता समझने का प्रयास शुरुआत से करती रही है. सपनों की इस बेकाबू दुनिया को अब आप अपने काबू में कर सकते हैं. लगातार विकसित होती तकनीक ने इसे संभव कर दिखाया है.

प्रोफेटिक कंपनी ने किया कमाल

सपनों के रहस्यमयी संसार में आपकी सीधी एंट्री कराने के लिए नए जमाने की एक टेक कंपनी ने शानदार प्रोडक्ट डिजाइन किया है. प्रोफेटिक नाम की इस कंपनी ने हाल ही में हालो एआई हेडबैंड (Halo AI headband) नाम से एक नई डिवाइस तैयार की है, जिसकी मदद से न सिर्फ आप सपनों के संसार में प्रवेश कर सकते हैं, बल्कि सपनों की दुनिया को पूरी तरह से कंट्रोल भी कर सकते हैं.

एआई ने किया इसे संभव

कंपनी का दावा है कि इस हेडबैंड की मदद से आप नींद में अपना पसंदीदा सपना देख सकते हैं. इसे ड्रीम्स ऑन डिमांड नाम से प्रचारित किया जा रहा है. प्रोफेटिक का कहना है कि उसने अत्याधुनिक आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से इस डिवाइस को तैयार किया है. यह डिवाइस आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के सहारे काम करती है.

अल्ट्रासाउंड की मदद ये एंट्री

कंपनी के अनुसार, हालो एआई हेडबैंड डिवाइस अल्ट्रासाउंड का इस्तेमाल कर सपनों की दुनिया के दरवाजे खोलती है. उसके बाद यूजर अपने सपनों की दुनिया में घुस सकता है. कंपनी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार, हालो एआई हेडबैंड एक एडवांस्ड न्यूरोटेक वियरेबल डिवाइस है, जो यूजर को सबकंशसनेस में एंट्री दिलाता है.

इस तरह से करिए सपनों को कंट्रोल

अल्ट्रासाउंड की मदद से सपनों के दरवाजे खोलने के बाद यूजर जान सकता है कि उसके सपने किस तरह से काम करते हैं. डिवाइस का काम यहीं पर समाप्त नहीं हो जाता है. यह डिवाइस सपनों के संसार में आपको एंट्री दिलाने के बाद आपको कंट्रोल भी प्रदान करता है. पल्स कंट्रोल की मदद से यूजर अपने सपनों को कंट्रोल भी कर सकते हैं. इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि प्रोफेटिक के हालो एआई हेडबैंड की मदद से आप सपनों की दुनिया में घुसकर उसे कंट्रोल कर सकते हैं और आप अपनी पसंद से सपने देख सकते हैं.

सच हुई ये सिनेमाई कल्पना

हॉलीवुड के मशहूर सिनेमा निर्देशक क्रिस्टोफर नोलन ने करीब एक दशक पहले इंसेप्शन नाम से एक मूवी बनाई. मूवी का कॉन्सेप्ट सपनों की दुनिया में प्रवेश करने और सपनों को कंट्रोल करने के इर्द-गिर्द है. नोलन ने एक दशक पहले सिनेमा में जिस बात की कल्पना की थी, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से तकनीक ने उस कल्पना को अब सच में बदलना शुरू कर दिया है.

डेढ़ लाख से ज्यादा होगी कीमत

प्रोफेटिक की ये डिवाइस अभी बाजार में उपलब्ध नहीं है, लेकिन आप अभी से इसे अपने लिए बुक जरूर कर सकते हैं. कंपनी का अनुमान है कि डिवाइस की डिलीवरी अगले साल शुरू हो सकती है. इसकी अनुमानित कीमत 2000 डॉलर (करीब 1.66 लाख रुपये) है. इसे आप 100 डॉलर (करीब 8,300 रुपये) के रिफंडेबल अमाउंट में बुक कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: इस सप्ताह रहेगी आईपीओ की धूम, निवेशकों से 27 सौ करोड़ रुपये जुटाने बाजार में उतरेंगी ये 5 कंपनियां

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here